जानिए 1 मार्च को घटित इतिहास की महत्त्वपूर्ण घटनाएं

Views : 2977  |  3 Minute read
1 march history

1 मार्च का इतिहास को घटित इतिहास की महत्त्वपूर्ण घटनाओं में विश्व के कई प्रसिद्ध महापुरुषों का जन्म और मृत्यु हुई।

1640 ई. में ब्रिटेन को मद्रास में व्यापार केंद्र खोलने की अनुमति मिली।
1872 ई. में येलोस्टोन दुनिया का पहला राष्ट्रीय पार्क बना।
1896 ई. में वैज्ञानिक ऑनरी बेकेरल के एक प्रयोग के कारण रेडियोधर्मिता क्या होती है, इसका पहली बार पता चला।
टाटा आयरन एण्ड स्टीली कंपनी की स्थापना वर्ष 1908 में जमशेदपुर में की गई।
महात्मा गांधी ने वर्ष 1919 में राॅलेट एक्ट के खिलाफ सत्याग्रह आंदोलन आरंभ करने की घोषणा की।

1969 में नई दिल्ली से कोलकाता के बीच पहली राजधानी ट्रेन चली।
देश के सबसे बड़े निजी क्षेत्र के वाणिज्यक बैंक, आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड ने वर्ष 2008 में न्यूयार्क में अपनी शाखा खोली।
सन 2010 में भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सऊदी अरब यात्रा की, इस दौरान दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि समेत व्यापार, विज्ञान-तकनीक, संस्कृति आदि क्षेत्रों में दस समझौतों पर हस्ताक्षर हुए।

भारतीय महिला पहलवान विनेश फोगाट ने किर्गिस्‍तान के बिश्‍केक में एशियाई कुश्‍ती चैम्पियनशिप 2018 में 50 किलोग्राम वर्ग में रजत पदक जीता।
वर्ष 2018 में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गिरफ्तारी के डर से विदेश भागने वाले आर्थिक अपराधियों से निपटने के लिए भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक-2018 को मंजूरी दे दी।
पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान से 2019 में इसी दिन विंग कमांडर अभिनंदन स्वदेश लौटे।

1 मार्च को जन्मे प्रसिद्ध व्यक्तित्व

करतार सिंह दुग्गल: भारतीय लेखक करतार सिंह दुग्गल का जन्म 1 मार्च, 1917 को रावलपिंडी (वर्तमान पाकिस्तान) में हुआ था। उन्होंने पंजाबी, हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू भाषाओं में लेखन कार्य किया था। उन्होंने में लघु कथाएं, उपन्यास और नाटक आदि लिखे हैं। उनकी रचनाओं का भारतीय और विदेशी भाषाओं में अनुवाद किया गया है। उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो के निदेशक के रूप में कार्य किया।

करतार सिंह दुग्गल के कहानी संग्रह ‘इक छिट् चानण दी’ को वर्ष 1965 में साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था। बाद में साहित्य अकादमी ने उन्हें अपने सबसे बड़े सम्मान साहित्य अकादमी फ़ेलोशिप से भी नवाज़ा।
उनकी प्रसिद्ध रचनाओं में हाल मुरीदों का, ऊपर की मंजिल, इंसानियत, मिट्टी मुसलमान की, चील और चट्टान, तुषार कण, सरबत्त दा भला शामिल है। उनका निधन 26 जनवरी, 2012 में पंजाब में हुआ।

पृथ्वी नाथ धर का जन्म 1919 में हुआ था। पीएन धर एक प्रसिद्ध अ​र्थशास्त्री थे। वह प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी के निजी सलाहकार एवं एवं सचिव थे।

आरपीजी समूह के संस्थापक और अध्यक्ष एमेरिटस रामा प्रसाद गोयनका का जन्म वर्ष में हुआ था।

हिन्दी के लेखक, निबंधकार और उपन्यासकार रमेश उपाध्याय का जन्म 1942 में बढ़ारी बैस, एटा, उत्तर प्रदेश में हुआ।

बुद्धदेव भट्टाचार्य का जन्म 1 मार्च, 1944 को पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हुआ। वह भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ता और राजनीतिज्ञ हैं। वह पश्चिम बंगाल के वर्ष 2000 से 2011 तक मुख्यमंत्री रहे थे।

नीतीश कुमार: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 1 मार्च, 1951 को बिहार के बख्तियारपुर में हुआ था। वह एनडीए सरकार के केंद्रीय रेल मंत्री रहे। वह जनता दल यू के सदस्य हैं।

अर्चना जोगलेकर: भारतीय एक्ट्रेस और क्लासिकल डांसर अर्चना जोगलेकर का जन्म 1965 में हुआ। वह उड़िया, मराठी और हिंदी फिल्मों और टेलीविजन धारावाहिकों में अभिनय करती हैं। उन्होंने कुछ प्रसिद्ध फिल्मों जैसे संसार में रोल किया। वह एक कथक डांसर और कोरियोग्राफर हैं।

सलिल अशोक अंकोला: एक्टर और पूर्व अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर सलिल अशोक अंकोला का जन्म 1968 में हुआ। वह वर्ष 1989 से 1997 तक क्रिकेट खेले, इस दौरान उन्होंने एक टेस्ट मैच और 21 दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले। वह एक दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज रहे।

 कुंजारानी देवी: भारतीय महिला भारोत्तोलक खिलाड़ी कुंजारानी देवी का जन्म 1 मार्च, 1968 को मणिपुर में हुआ। उसने वर्ष 1995 में नौरू में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया। कुंजारानी देवी ने अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर वेटलिफ्टिंग मेें 60 से अधिक पदक जीत चुकी हैं। वह विश्व रैंकिंग में प्रथम स्थान पर रह चुकी हैं।

एमसी मैरी कॉम: भारतीय महिला मुक्केबाज़ एमसी मैरी कॉम का जन्म वर्ष 1983 में हुआ।

1 मार्च को दुनिया को अलविदा कहने वाली हस्तियां

प्रसिद्ध हिंदी कवि और लेखक सोहनलाल द्विवेदी का निधन 1988 को हुआ।
भारतीय राजनीतिज्ञ और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके वसन्तदादा पाटिल का निधन।
गुजराती साहित्यकार तारक मेहता का निधन वर्ष 2017 में हुआ था।
2019 में हरियाणा BJP के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश ग्रोवर का निधन।

COMMENT