बॉलीवुड का वो एक्टर जिसने अपने 20वें जन्मदिन पर इस दर्दनाक हादसे में गंवा दिया था परिवार

Views : 3196  |  0 minutes read

फिल्म ‘बेखुदी’ से अपने कॅरियर की शुरुआत करने वाले अभिनेता कमल सदाना का आज 49वां जन्मदिन है। कमल ने अपने एक्टिंग कॅरियर की शुरुआत अभिनेत्री काजोल के साथ फिल्म ‘बेखुदी’ से की थी। अपनी पहली ही फिल्म से हिट होने के बाद कमल ने ना जाने कितनी ही फिल्मों में काम किया। कामयाबी हासिल करने के बावजूद कमल की जिंदगी में एक ऐसा दर्दनाक हादसा हुआ जिसने रातों रात उनकी पूरी जिंदगी बदल कर रख दी।

जब जन्मदिन बना मातम का दिन

21 अक्टूबर, 1990 को कमल का 20वां जन्मदिन था। घर में जन्मदिन की खुशियां मनाई जा रही थी। मगर किसको मालूम था कि ये खुशियां कुछ पलों की ही मेहमान हैं। कमल के पिता बृज सदाना डायरेक्टर-प्रोड्यूसर थे। उन्होंने ‘विक्टोरिया नंबर 203’, ‘यकीन’ , ‘प्रोफेसर प्यारेलाल’ जैसी हिट फिल्में दी हैं। घर में जन्मदिन की पार्टी का माहौल था। जो कुछ समय बाद ही गृह क्लेश में बदल गया। बृज और उनकी पत्नी में कहासुनी होने लगी। देखते ही देखते चंद मिनटों बाद ही बृज ने अपनी रिवॉल्वर से पहले पत्नी सईदा खान पर गोली दागी फिर बेटी नम्रता पर गोली चलाई। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। बृज ने कमल पर भी गोली चलाई मगर गोली उन्हें छू कर निकल गई।

जन्मदिन की पार्टी को यूं मातम में बदलने के बाद बृज ने आखिरकार खुद को भी गोली मार दी। उस रात ऐसा क्या हुआ ये कोई नहीं जानता। एक छोटे से झगड़े ने कैसे खूनी रूप धारण किया ये आज भी पहेली बना हुआ है। इस हादसे को याद कर आज भी कमल कांप जाते हैं। इस हादसे ने कमल को अंदर तक हिला दिया। वे भयंकर अवसाद में चले गए। ये हादसा कमल के दिलो दिमाग पर इस कद्र हावी हो गया था कि उनकी काउंसलिंग करानी पड़ी थी।

दर्दनाक हादसे के बाद कमल की सिने पर्दे पर वापसी

लंबे समय बाद कमल इस दर्द से उभरे। दो साल बाद साल 1992 में उन्होंने बॉलीवुड में फिल्म ‘बेखुदी’ से कमबैक किया। फिल्म में उनके अपोजिट हिरोइन थी काजोल। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास जादू नहीं चला पाई। इस फिल्म के बाद कमल फिल्म ‘रंग’ में नजर आए। जिसमें उनके अपोजिट दिव्या भारती थी। यह कमल की पहली हिट फिल्म थी। फिल्म के गानें खूब हिट हुए। जानकर हैरानी होगी मगर यह फिल्म दिव्या भारती की आखिरी फिल्म थी इस फिल्म के रिलीज के करीब तीन महीने पहले ही दिव्या ने छत से कूद कर आत्महत्या कर ली थी।

इन फिल्मों में कर चुके हैं काम

कमल ने ‘बेखुदी’0(1992), ‘रंग’ (1993), ‘बाली उमर को सलाम’ (1994), ‘हम सब चोर हैं’ (1995), ‘रॉक डांसर’ (1995), ‘हम हैं प्रेमी’ (1996), ‘अंगारा’ (1996), ‘निर्णायक’ (1997), ‘मोहब्बत और जंग’ (1998), ‘कर्कश’ (2005) और ‘विक्टोरिया नंबर’ 203 (2007) जैसी फिल्मों में काम किया है। एक्टिंग के अलावा कमल ने निर्देशन की दुनिया में भी काम किया है। उन्होंने ‘कर्कश’ और साल 2014 में आई फिल्म ‘रोर: टाइगर्स ऑफ द सुंदरबन्स’ का निर्देशन किया है। यही नहीं उन्होंने साल 2006 में टीवी सीरियल ‘कसम से’ में भी काम किया है। फिलहाल ये एक्टर फिल्मी पर्दे से बहुत दूर अपनी जिंदगी जी रहा है।

 

COMMENT