हिंसा मामले में फटकार लगाने वाले दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस मुरलीधर का तबादला

Views : 3679  |  3 minutes read

दिल्ली में हुई हिंसा को रोकने में असफल रहने पर सरकार व पुलिस को फटकार लगाने वाले दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस मुरलीधर का तबादला कर दिया गया है। उनके इस तरह अचानक तबादले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, बॉलीवुड की कई हस्तियों व लोगों ने नाराजगी जताई है। जानिये, आखिर क्या है ये पूरा मामला-

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में हुआ तबादला

जानकारी के मुताबिक दिल्ली उच्च न्यायालय के वरिष्ठ जस्टिस एस मुरलीधर का तबादला पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में कर दिया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मुख्य न्यायाधीश से चर्चा करने के बाद यह मंजूरी दी जिसके बाद इस संबंध में अधिसूचना जारी की गई। बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम ने 12 फरवरी को जज एस मुरलीधर के तबादले की सिफारिश की थी।

आधी रात सुनवाई कर लगाई थी फटकार

दिल्ली में गत दिनों से जारी हिंसा मामले में दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस एस मुरलीधर ने अपने घर देर रात सुनवाई की थी। इस मामले में जस्टिस मुरलीधर की पीठ ने दिल्ली पुलिस व सरकार को फटकार लगाकर निर्देश भी दिए थे व इस प्रकरण में लिप्त भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भी कहा था।

प्रियंका गांधी ने सरकार पर साधा निशाना

इधर जस्टिस मुरलीधर के तबादले के बाद सियासत भी गरमा गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस मामले में मोदी सरकार को घेरा है और कहा है कि भारत के लोगों को एक न्यायप्रिय व ईमानदार न्यायपालिका में विश्वास है लेकिन न्याय को विफल कर जनता के विश्वास को तोड़ने का सरकार का यह प्रयास दुस्साहसी है।

Read More: दिल्ली हिंसा: दंगाइयों को देखते ही गोली मारने का आदेश, अजित डोभाल ने संभाला मोर्चा

तबादले पर यह बोले कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद

इधर जज के तबादले के बाद हो रही बयानबाजी के बीच कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का बयान आया है। प्रसाद ने ट्वीट कर कहा है कि जस्टिस मुरलीधर का तबादला सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम की सिफारिश व सुस्थापित प्रक्रिया के तहत ही किया गया है।

 

 

 

COMMENT