ईरान-अमेरिका वॉर: जानें, इसका क्या प्रभाव पड़ेगा भारत पर

Views : 1959  |  3 Minute read

अमेरिका और ईरान के बीच जारी तनाव का अन्य देशों की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। जिसका प्रभाव भारत पर भी देखने को मिल रहा है। इस तनाव से भारत में पेट्रोल—डीजल, रसोई गैस सहित हवाई यात्रा का ​किराया और सोना के दामों में तेजी देखने को मिल रही है।

बता दें कि 3 जनवरी को अमेरिका द्वारा इराक में एयरस्ट्राइक कर ईरान के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी को मौत के घाट उतार दिया गया, जिसका बदला लेने के लिए ईरान ने भी इराक में स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइलों से हमला कर दिया।

क्रूड ऑयल में आई तेजी

भारत अपनी जरूरत का 85 प्रतिशत कच्चा तेल आयात करता है। जिसका बड़ा भाग खाड़ी देशों से आता है। इनमें इराक, कुवैत, संयुक्त अरब अमीरात आदि प्रमुख देश हैं जो भारत को क्रूड ऑयल (कच्चा तेल) की आपूर्ति करते हैं। इसकी सप्लाई होर्मुज की खाड़ी से होकर की जाती है। यदि स्थिति बिगड़ती है तो ईरान होर्मुज जलमार्ग को बंद कर सकता है। जिससे दुनिया भर के देशों में तेल की सप्लाई प्रभावित होने से हाहाकार मच सकता है। रणनीतिक रूप से होर्मुज जलडमरूमध्य तेल व्यापार का सबसे अहम रास्ता माना जाता है।

जब से अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ा है, उसके बाद से कच्चा तेल 2.12 डॉलर प्रति बैरल बढ़कर के 72 डॉलर प्रति बैरल के पार चला गया है। कच्‍चे तेल की कीमतों में तेजी आने से भारत का आयात बिल बढ़ेगा जो चालू खाते के घाटे को बढ़ाने का काम करेगा।

भारत में भी इसका असर देखने को मिल रहा है। खबरों के मुताबिक, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में साल की शुरुआत से ही बढ़ोतरी हो रही है। हालांकि बुधवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में स्थिरता देखने को मिली है।

दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम बिना किसी बदलाव के क्रमश: 75.74 रुपये, 78.33 रुपये, 81.33 रुपये और 78.69 रुपये प्रति लीटर बना हुआ था। वहीं, चारों महानगरों में डीजल की कीमत भी क्रमश: 68.79 रुपये, 71.15 रुपये, 72.14 रुपये और 72.69 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर बनी रही। हालांकि स्थिति गंभीर होती है, तो भविष्य में 90 रुपए प्रति लीटर तक जा सकता है।

सोने-चांदी की कीमतों में होगा इजाफा

इस तनाव पूर्ण माहौल का असर सोने-चांदी की कीमतों में भी देखने को मिलेगा। आने वाले दिनों में सोना 44 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम तक जा सकता है। खबरों के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना 1750 डॉलर प्रति औंस तक जा सकता है। वहीं चांदी 20 डॉलर के पार जाती है।

डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया ओर कमजोर हो सकता है। बुधवार को रुपए की कमजोरी के साथ शुरुआत हुई है। डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे की कमजोरी के साथ 72.02 के स्तर पर खुला है। वहीं, पिछले कारोबारी दिन डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे मजबूत होकर 71.83 के स्तर पर बंद हुआ था।

हवाई किराये में बढ़ोतरी की संभावना

विमान नियामक डीजीसीए ने अपनी सभी एयरलाइन कंपनियों को ताजा हमलों और संकट को देखते हुए खाड़ी देशों की हवाई सीमा को इस्तेमाल करने से मना कर दिया है। ऐसे हालात में अब यूएसए, यूरोप और रूस की ओर जाने वाले विमान दुबई के रास्ते नहीं जा पाएंगे। इससे विमानों को दूसरे रूट से जाना पड़ेगा, जिससे समय तो अधिक लगेगा ही साथ ही किराया भी अधिक देना होगा।

पेट्रोल—डीजल के दाम बढ़ने से परिवहन महंगा हो जाएगा, जिससे खाद्यान्न वस्तुओं के दाम बढ़ सकते हैं। लोगों को आने—जाने के लिस भी किराया अधिक देना पड़ सकता है।

COMMENT