वर्ष 2023 में पहली बार जी20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा भारत, 2022 में बनेगा अध्यक्ष

Views : 741  |  3 minutes read
G-20-Summit-India-2023

भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी बताया कि भारत 1 दिसंबर, 2022 को इंडोनेशिया से जी20 देशों का अध्यक्ष पद ग्रहण करेगा। इसके बाद भारत वर्ष 2023 में पहली बार जी20 देशों का शिखर सम्मेलन भी आयोजित करेगा।  विदेश मंत्रालय की जानकारी के अनुसार, भारत बुधवार को जी20 ट्रोइका में शामिल हो गया। ट्रोइका के तीन देशों में इंडोनेशिया और इटली के साथ अब भारत भी रहेगा। ये तीनों देश जी20 के मौजूदा, पूर्ववर्ती व भावी अध्यक्ष हैं।

कौन होते हैं ट्रोइका में शामिल देश?

जी20 ट्रोइका का मतलब यह है कि हर साल जब एक सदस्य देश अध्यक्ष पद ग्रहण करता है तो वह देश पिछले साल के अध्यक्ष देश और अगले साल के अध्यक्ष देश के साथ समन्वय स्थापित करता है। इस प्रक्रिया को ही ट्रोइका कहा जाता है। यह जी20 समूह के एजेंडे के साथ सामंजस्य व निरंतरता कायम रखने का काम करता है। भारत एक दिसंबर, 2021 से लेकर 30 नवंबर, 2024 तक जी20 ट्रोइका का हिस्सा रहेगा। भारतीय विदेश मंत्रालय की जानकारी के अनुसार भारत 1 दिसंबर, 2022 को इंडोनेशिया से जी20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा। इसके अगले साल यानि साल 2023 में देश में पहली बार जी20 देशों का शिखर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।

जी20 में शामिल हैं ये सभी देश

अगर जी20 में शामिल देशों की बात करें तो इसमें जर्मनी, फ्रांस, भारत, चीन, रूस, इटली, जापान, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, इंडोनेशिया, तुर्की, अर्जेंटीना, मेक्सिको, दक्षिण कोरिया, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ शामिल हैं। आपको बता दें कि जी20 विश्व की अग्रणी अर्थव्यवस्थाओं वाले देशों और यूरोपीय संघ को साथ लाता है। इसके मेंबर देशों का विश्व की कुल जीडीपी में 80 फीसदी हिस्सेदारी है। जबकि विश्व व्यापार में 75 फीसदी और विश्व की कुल आबादी में 60 फीसदी योगदान है।

दिसंबर की शुरुआत में इं​डोनेशिया बना अध्यक्ष

मालूम हो कि बुधवार को 1 दिसंबर 2021 को ही इंडोनेशिया ने जी20 देशों का अध्यक्ष पद ग्रहण कर लिया है। वह अगले एक साल तक विभिन्न जी20 बैठकों का आयोजन करेगा। वहीं, इसका समापन 30-31 अक्टूबर 2022 को जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन के साथ होगा।

पिछले 5 साल में छह लाख से ज्यादा भारतीयों ने छोड़ी नागरिकता, 4177 को मिली सिटीजनशिप

COMMENT