भारत ने अप्रैल-जून की पहली तिमाही में निर्यात का रिकॉर्ड बनाया: पीयूष गोयल

Views : 911  |  3 minutes read
April-June-Export-Record

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि ‘भारत की अर्थव्यवस्था बढ़ रही है और हमारा निर्यात भी बढ़ रहा है। कोविड-19 की दूसरी लहर के बावजूद भारत ने अप्रैल-जून 2021 की पहली तिमाही में अब तक का सबसे अधिक निर्यात दर्ज किया।’ इंजीनियरिंग, चावल, ऑयल मील और समुद्री उत्पादों समेत विभिन्न क्षेत्रों के बेहतर प्रदर्शन से देश का निर्यात इस साल जून तिमाही के दौरान निर्यात बढ़कर 95 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया। उन्होंने कहा कि अप्रैल-जून 2018-19 के दौरान व्यापारिक निर्यात 82 अरब डॉलर और 2020-21 की अंतिम तिमाही के दौरान 90 अरब डॉलर था। 2020-21 की जून तिमाही में निर्यात 51 अरब डॉलर था। जबकि इसी वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में निर्यात 90 अरब डॉलर रहा था। पिछले महीने देश का निर्यात 47 प्रतिशत उछलकर 32 अरब डॉलर रहा था।

5 वर्ष में दस खरब डॉलर के निर्यात का लक्ष्य प्राप्त करेंगे: मंत्रालय

केंद्रीय मंत्री गोयल ने कहा, ‘इस साल अप्रैल-जून तिमाही में देश का वस्तुओं निर्यात किसी तिमाही में अबतक का सर्वाधिक है।’ उन्होंने आगे कहा कि मंत्रालय चालू वित्त वर्ष में 400 अरब डॉलर का निर्यात लक्ष्य हासिल करने के लिए सभी संबद्ध पक्षों के साथ मिलकर काम करेगा। वहीं, वाणिज्य मंत्रालय में ओएसडी बीवीआर सुब्रह्मण्यम ने कहा, ‘हम 400 अरब डॉलर के निर्यात पर नहीं रुकेंगे। वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 500 अरब डॉलर निर्यात का लक्ष्य रखा गया है। उसके बाद पांच वर्ष के अंदर 10 खरब डॉलर के व्यापारिक निर्यात का लक्ष्य प्राप्त करेंगे।’ उन्होंने कहा कि महामारी के बावजूद 2020-21 में 81.72 अरब डॉलर का FDI प्रवाह रहा, जो अब तक का सबसे अधिक है। अप्रैल 2021 में FDI प्रवाह 6.24 अरब डॉलर रहा, जो अप्रैल-20 की तुलना में 38 फीसदी अधिक है।

बीवीआर सुब्रह्मण्यम ने आगे कहा कि उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा देश के 623 जिलों में मान्यता प्राप्त स्टार्टअप्स की संख्या 50,000 के पार हो गई है। उधर, डीपीआईआईटी के सचिव गिरिधर अरमाने ने बताया कि ‘युवा निवेशकों ने 1.8 लाख औपचारिक नौकरियां और 16,000 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप बनाए हैं। उन्हें कई तरह के लाभ दिए जा रहे हैं। हमने स्टार्टअप क्षेत्र को पेटेंट देने के लिए एक फास्टट्रैक तंत्र स्थापित किया है।’

गोयल ने 20 महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की समीक्षा की

बता दें कि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने करीब 2.7 लाख करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश वाली 20 महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की समीक्षा की। एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि मंत्री ने परियोजनाओं को समय पर चालू करने के लिए लंबित मुद्दों का जल्द समाधान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए और समय-सीमा तय की। बयान के मुताबिक, जिन परियोजनाओं की समीक्षा की गई उनमें पूर्वी और पश्चिमी मार्गों पर समर्पित फ्रेट गलियारे और अमृतसर कोलकाता औद्योगिक गलियारा (एकेआईसी) शामिल हैं।

Read More: बैंकों को ट्रांसफर हुई विजय माल्या, नीरव मोदी और चोकसी की 9,371 करोड़ की संपत्ति

COMMENT