केंद्र सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर दी राहत, ब्याज दर रहेगी यथावत

Views : 675  |  3 minutes read
Small-Savings-Schemes-Interest-Rate

केंद्र सरकार ने गुरुवार को बड़ा निर्णय लेते हुए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को यथावत रखा है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग की ओर से ये जानकारी साझा की गई है। मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग के अनुसार, 1 अप्रैल 2022 से शुरू होकर 30 जून 2022 को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के लिए तमाम छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही (1 जनवरी 2022 से 31 मार्च 2022) के लिए लागू वर्तमान दरों पर ही बनी रहेगी।

आपको बता दें कि 2020-21 की पहली तिमाही के बाद से ब्याज दर को संशोधित नहीं किया गया है। सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) और राष्ट्रीय बचत प्रमाण-पत्र (एनएससी) पर पहली तिमाही में क्रमशः 7.1 प्रतिशत और 6.8 प्रतिशत की वार्षिक ब्याज दर जारी रहेगी। इसी प्रकार सुकन्या समृद्धि योजना और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में क्रमश: 7.6 प्रतिशत तथा 7.4 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर आगे भी जारी रहेगी।

1 अप्रैल से 30 जून, 2022 तक जारी रहेगी पहली तिमाही

वित्त मंत्रालय ने अपनी ओर से जारी एक अधिसूचना में कहा, ”विभिन्न लघु बचत योजनाओं के लिए 2022-23 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसका मतलब है कि इन योजनाओं पर वही ब्याज मिलेगा जो चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च, 2021) में लागू था।” मालूम हो कि लघु बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरों को तिमाही आधार पर अधिसूचित किया जाता है।

वित्तीय वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के लिए विभिन्न लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर 1 अप्रैल, 2022 से शुरू होकर 30 जून, 2022 को समाप्त होने वाली है। एक वर्षीय सावधि जमा योजना पर अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 5.5 प्रतिशत की ब्याज दर प्राप्त करना जारी रहेगा, जबकि सुकन्या समृद्धि योजना खाते में 7.6 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा। वरिष्ठ नागरिकों की पांच वर्षीय बचत योजना पर ब्याज दर 7.4 फीसदी पर बरकरार रहेगी।

सावधि जमा पर 5.5-6.7 प्रतिशत की दर से मिलेगा ब्याज

जानकारी के अनुसार, बचत जमा पर सालाना ब्याज दर 4 प्रतिशत बनी रहेगी। वहीं, एक से पांच साल की सावधि जमा पर 5.5-6.7 फीसदी की ब्याज दर मिलेगी, जिसका भुगतान तिमाही में किया जाएगा। इसके अलावा पांच साल की आवर्ती जमा पर ब्याज दर 5.8 प्रतिशत रहेगी।

Read Also: कैबिनेट ने केंद्रीय कर्मचारियों के डीए में तीन फीसदी की बढ़ोतरी को दी मंजूरी

COMMENT