केंद्रीय मंत्री गडकरी का सुझाव, कोरोना वैक्सीन उत्पादन के लिए और दवा कंपनियों को मिले मंजूरी

Views : 1787  |  3 minutes read
Gadkari-Vaccine-Suggestion

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर में लगातार बढ़ती मौतें और टीकाकरण के लिए कोविड वैक्सीन की हो रही किल्लत को दूर करने के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक अहम सुझाव दिया है। केंद्रीय मंत्री ने सुझाव दिया कि कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता को बढ़ाने के लिए कुछ और दवा कंपनियों को इसके उत्पादन की मंजूरी दी जानी चाहिए। नितिन गडकरी ने यह बात मंगलवार को विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए कही।

‘कंपनियों को मंजूरी देने के लिए बनाया जाए कानून’

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस बारे में आग्रह करेंगे कि देश में जीवन रक्षक दवाओं का उत्पादन बढ़ाने के लिए और दवा कंपनियों को मंजूरी देने के लिए कानून बनाया जाना चाहिए। इसमें दवा के पेटेंट धारक को अन्य दवा कंपनियों द्वारा 10 प्रतिशत रॉयल्टी देने की व्यवस्था की जानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘यदि टीके की आपूर्ति के मुकाबले उसकी मांग अधिक होगी तो इससे समस्या खड़ी होगी। इसलिए एक कंपनी के बजाय 10 और कंपनियों को टीके का उत्पादन करने में लगाया जाना चाहिए। इसके लिए टीके के मूल पेंटेंट धारक कंपनी को दूसरी कंपनियों द्वारा दस प्रतिशत रॉयल्टी का भुगतान किया जाना चाहिए।’ गडकरी ने आगे भी कहा कि पहले देश में सप्लाई पूरी हो जाए, उसके बाद वैक्सीन का आयात किया जाए।

देश में फिलहाल दो कंपनियां ही कर रही हैं वैक्सीन उत्पादन

आपको बता दें कि हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस संबंध में पत्र लिखकर कहा कि केंद्र को टीका बनाने वाली दोनों कंपनियों का फार्मूला अन्य सक्षम दवा विनिर्माता कंपनियों को देना चाहिए ताकि टीके का उत्पादन बढ़ाया जा सके। वर्तमान में देश में कोरोना रोधी टीके का उत्पादन दो कंपनियां कर रही हैं। पहली भारत बायोटेक जो कोवैक्सिन टीका बना रही है और दूसरी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया जो कि कोविशील्ड का उत्पादन कर रही है।

दिल्ली सीएम ने कहा कि इन दोनों कंपनियों को दूसरी कंपनियों द्वारा टीका उत्पादन से होने वाले मुनाफे में से रायल्टी दी जा सकती है। देश में फिलहाल तीन टीकों को ही इस्तेमाल की अनुमति मिली है- कोवैक्सीन, कोविशील्ड और स्पुतनिक- वी। डॉ. रेड्डीज लैब स्पुतनिक- वी का रूस से आयात कर रही है। लेकिन फिलहाल देश में इसकी उपलब्धता व्यापक स्तर पर नहीं है।

डीआरडीओ द्वारा विकसित कोरोना की देसी दवा 2DG को रक्षा और स्वास्थ्य मंत्री ने किया लॉन्च

COMMENT