‘फादर ऑफ इंडियन आईटी इंडस्ट्री’ एफसी कोहली का निधन, टीसीएस के थे संस्थापक

Views : 1385  |  3 minutes read
FC-Kohli-Death

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के संस्थापक एफसी कोहली यानि फ़कीर चंद कोहली का गुरुवार को निधन हो गया। ‘पद्म भूषण’ से सम्मानित एफसी कोहली ने 96 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। उनका जन्म 19 मार्च, 1924 देश के बंटवारे से पहले पेशावर में हुआ था। कोहली को ‘फादर ऑफ इंडियन आईटी इंडस्ट्री’ भी कहा जाता है। सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री के जनक कहे जाने वाले एफसी कोहली ने भारत की प्रौद्योगिकी क्रांति का नेतृत्व किया और टीसीएस के पहले सीईओ के रूप में देश को 100 बिलियन डॉलर के आईटी इंडस्ट्री के निर्माण में मदद की।

वर्ष 1951 में टाटा इलेक्ट्रिक कंपनी में सिलेक्ट हुए

एफसी कोहली ने अपनी बीए और बीएससी की शिक्षा पंजाब विश्वविद्यालय के अधीन सरकारी कॉलेज लाहौर से ली थी। इसके बाद उन्होंने कनाडा के क्वीन्स विश्वविद्यालय से वर्ष 1948 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग बीएससी ऑनर्स की डिग्री ली। वर्ष 1950 में कोहली ने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एमएस भी किया। विदेश में पढ़ाई खत्म करने के बाद कोहली वर्ष 1951 में स्वदेश लौट आए।

इसी साल एफसी कोहली टाटा इलेक्ट्रिक कंपनी में भर्ती हो गए और सिस्टम ऑपरेशन को मैनेज करने के लिए लोड डिस्पैचिंग सिस्टम स्थापित करने में मदद की। वर्ष 1969 में कोहली टीसीएस के जनरल मैनेजर बने। इसके बाद वर्ष 1970 में उन्हें कंपनी के निदेशक की जिम्मेदारी दी गई। कोहली को बाद में टीसीएस के पहले सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया।

Read More: सोनिया के सलाहकार व कांग्रेस के नेता अहमद पटेल का 71 साल की उम्र में निधन

75 साल की उम्र में सेवानिवृत्त हुए थे कोहली

देश के एक नामी टेक्नोक्रेट के रूप में पहचान रखने वाले फ़कीर चंद कोहली वर्ष 1991 में आईबीएम को टाटा-आईबीएम के हिस्से के रूप में भारत लाने के निर्णय में सक्रिय रूप से शामिल थे। यह भारत में हार्डवेयर मैन्युफैक्चरिंग के लिए ज्वाइंट वेंचर का हिस्सा था। वहीं, वर्ष 1994 में एफसी कोहली ने कंपनी के डिप्टी चेयरमैन के रूप में जिम्मेदारी संभाली। इसके बाद वर्ष 1999 में वह 75 साल की उम्र में अपनी नौकरी से रिटायर हो गए थे।

COMMENT