दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी कैरोलिना मारिन टोक्यो ओलंपिक से हटीं, जानें वजह…

Views : 751  |  3 minutes read
Sports-News-Hindi

खेलों के महाकुंभ माने जाने वाले ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से जापान में होने वाली है, लेकिन इससे पहले स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी प्रतियोगिता से हट गई है। स्पेन की दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी कैरोलिना मारिन ने घुटने में चोट की वजह से मंगलवार को टोक्यो ओलंपिक से हटने का फैसला किया। इस बात की जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से एक बयान जारी करके दी। मारिन ने बयान में कहा, ‘सप्ताहांत परीक्षण और चिकित्सकीय परामर्श के बाद मैं पुष्टि कर सकती हूं कि मेरे बाएं घुटने में चोट है। इस हफ्ते मेरी सर्जरी होगी और फिर मैं रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया से गुजरूंगी।’

इन दिनों में सहयोग और संदेश के लिए सभी को धन्यवाद

कैरोलिना मारिन ने कहा, ‘यह एक और झटका है जिसका सामना मुझे करना पड़ रहा है। पिछले दो महीने में उन कारणों से तैयारी काफी मुश्किल रही जो टीम के नियंत्रण में नहीं थे, लेकिन हम रोमांचित थे और पता था कि मैं ओलंपिक के दौरान सर्वश्रेष्ठ स्थिति में रहूंगी। ऐसा अब संभव नहीं होगा।’ उन्होंने आगे कहा, ‘इन दिनों में सहयोग और संदेश के लिए मैं सभी को धन्यवाद कहना चाहती हूं। मुझे पता है कि मैं सुरक्षित हाथों में हूं और काफी सारे लोग मेरे साथ हैं।’

शानदार फॉर्म में चल रही मारिन खिताब की प्रबल दावेदार थी

मालूम हो कि तीन बार की विश्व चैंपियन कैरोलिना मारिन इस बार खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी, क्योंकि वह शानदार फॉर्म में चल रही थी और इस साल पांच फाइनल में खेलते हुए चार खिताब जीतने में सफल रहीं। इससे पहले जनवरी 2019 में मारिन के दाएं घुटने में चोट लगी थी, जिसके कारण वह उस साल सितंबर तक कोर्ट से दूर रही थी। मारिन के ओलंपिक से हटने की वजह से भारतीय स्टार खिलाड़ी पीवी सिंधु को टूर्नामेंट में इसका फायदा मिल सकता है। उनके हटने से सिंधु की स्वर्ण पदक हासिल करने की उम्मीदें और मजबूत हो जाएंगी, क्योंकि मारिन ने सिंधु को कई बड़े टूर्नामेंट्स में शिकस्त दी हैं।

इन दोनों के बीच अभी तक 13 मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें से आठ में मारिन तो पांच में पीवी सिंधु ने विजय हासिल की है। ऐसे में मारिन के न होने से टॉप भारतीय खिलाड़ी की एक कड़ी प्रतिद्वंदी कम हो जाएगी। गौरतलब है कि कैरोलिना मारिन ने साल 2016 में रियो ओलंपिक के फाइनल में भारत की पीवी सिंधु को ही हराकर गोल्ड मेडल स्पेन के नाम किया था। आपको जानकारी के लिए बता दें कि टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से हो रही है और ये खेल आठ अगस्त तक खेले जाएंगे।

Read More: श्रीलंका के 24 क्रिकेटरों ने नए केंद्रीय अनुबंध के प्रस्ताव को ठुकराया

COMMENT