उड़ने वाली कार का सपना होगा साकार, भारत में यहां मैन्युफैक्चरिंग प्लांट होगा स्थापित

Views : 1442  |  3 minutes read

भारत में उड़ने वाली कार का सपना जल्दी ही साकार होने जा रहा है। दरअसल नीदरलैंड स्थित एक फ्लाइंग कार निर्माता कंपनी गुजरात में ऐसी कार बनाने के लिए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित करने जा रही है और इस संबंध में गुजरात सरकार व कंपनी के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर​ किए जा चुके हैं।

एमओयू पर हुए हस्ताक्षर

खबरों के अनुसार गुजरात के प्रमुख सचिव एम के दास व कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट कार्लो मासबोमिले के बीच एक एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं। PAL-V कंपनी ने जारी एक बयान में बताया है कि गुजरात सरकार उनके प्लांट को स्थापित करने में सभी मंजूरी देने में मदद करेगी।

उड़ने के लिए लगाएगी मात्र 3 मिनट,यह होगी स्पीड

कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट ने बताया कि यह कार सड़क से हवा में उड़ने के लिए सिर्फ 3 मिनट का समय लेगी। सड़क पर यह 160 किलोमीटर प्रति घंटे तो हवा में 180 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ेगी और एक बार में फुल टैंक होने पर यह कार 500 किलोमीटर तक का सफर भी तय कर सकेगी।

कार में इतने लोग बैठ पाएंगे

इस उड़ने वाली कार में मात्र 2 लोग ही बैठ पाएंगे। कार 8 सेकंड के अंदर 0 से 60 मील प्रति घंटे की स्पीड पकड लेगी। इसमें 230 हॉर्सपावर के चार सिलेंडर इंजन लगाएं जाएंगे।

Read More: गाड़ी चलाते समय भूल कर न करें ये गलतियां अन्यथा ड्राइविंग लाइसेंस हो सकता है जब्त

मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए गुजरात को इसलिए चुना

कंपनी को अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट को स्थापित करने के लिए पूरे भारत में गुजरात को चुनने की कुछ वजहें हैं। कंपनी के अनुसार यहां वर्ल्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर,कमर्शियल पोर्ट व मिलने वाली लॉजिस्टिक सुविधाएं हैं।

कंपनी को मिल चुके इतने ऑर्डर

जानकारी के अनुसार इस कंपनी को अब तक करीब 110 फ्लाइंग कार बनाने के लिए ऑर्डर मिल चुके हैं और भारत से इन कारों को निर्यात किया जाएगा। इस कार का वजन लगभग 680 किलोग्राम बताया जा रहा है। लोगों में इस कार को लेकर उत्सुकता बनी हुई है।

 

 

COMMENT