एनडीए की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार होगी द्रौपदी मुर्मू, पहली आदिवासी महिला बनेंगी प्रेसीडेंट

Views : 599  |  3 minutes read
NDA-Presidential-Candidate

विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार की घोषणा के बाद राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने भी अपने उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है। भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में द्रौपदी मुर्मू का नाम तय किया गया। बता दें कि ओडिशा की रहने वाली 64 वर्षीय मुर्मू इससे पहले झारखंड की पहली महिला आदिवासी राज्यपाल भी रह चुकी हैं। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के नाम का ऐलान किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पार्टी नेताओं के बीच राष्ट्रपति पद उम्मीदवार के लिए 20 नामों पर चर्चा हुई। इसमें तय हुआ कि इस बार राष्ट्रपति चुनाव के लिए पूर्वी भारत से कोई, महिला और आदिवासी उम्मीदवार होना चाहिए।

मुर्मू हमारे देश की एक महान राष्ट्रपति होंगी: पीएम मोदी

राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में एनडीए की ओर से उम्मीदवार की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, “मुझे भरोसा है कि द्रौपदी मुर्मू हमारे देश की एक महान राष्ट्रपति होंगी। द्रौपदी मुर्मू ने अपना जीवन समाज की सेवा व गरीबों, दलितों तथा हाशिए पर खड़े लोगों को सशक्त बनाने के लिए समर्पित किया है।”

मुझे विश्वास है कि वो निश्चित रूप से जीतेंगी: शाह

उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक ट्वीट पोस्ट में लिखा, “द्रौपदी मुर्मू जी ने जनजातीय समाज में शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाने व जनप्रतिनिधि के रूप में लंबे समय तक जनसेवा करते हुए सार्वजनिक जीवन में अपनी विशिष्ठ पहचान बनाई है। इस गरिमामई पद की प्रत्याशी बनने पर उनको शुभकामनाएं देता हूँ व मुझे विश्वास है कि वो निश्चित रूप से जीतेंगी।”

बीजेडी ने मुर्मू के नाम की घोषणा पर जताई खुशी

वहीं, राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर एनडीए की ओर से द्रौपदी मुर्मू के नाम का ऐलान होने पर ओडिशा की सत्ता पर काबिज पार्टी बीजू जनता दल (बीजेडी) ने भी खुशी जताई है। पार्टी के अध्यक्ष और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने द्रौपदी मुर्मू को बधाई दी और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके नाम को लेकर चर्चा की थी और उन्हें इस पर काफी खुशी हुई है। यह ओडिशा के लिए एक गर्व का मौका है।

संसदीय बोर्ड की बैठक में पीएम मोदी भी रहे शामिल

भाजपा मुख्यालय में हुई संसदीय बोर्ड बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शिरकत की थी। इस बैठक में राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार के नाम पर मंथन किया गया। बैठक में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित संसदीय बोर्ड के अन्य सदस्य भी शामिल हुए।

मैं आश्चर्यचकित हूं, मुझे विश्वास नहीं हो रहा: मुर्मू

एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाए जाने के बाद द्रौपदी मुर्मू ने ओडिशा के रायरंगपुर में अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुझे आप सभी से ये (राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चुने जाने की) खबर मिली और मैं आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद करती हूं। उन्होंने कहा कि मैं आश्चर्यचकित हूं और मुझे विश्वास नहीं हो रहा। मैं आप सभी की आभारी हूं और ज्यादा बोलने की इच्छा नहीं है। संविधान में राष्ट्रपति की जो भी शक्तियां हैं मैं उसके अनुसार काम करूंगी।

वहीं, यशवंत सिन्हा को विपक्षी दल का उम्मीदवार बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारा काम लोगों के पास जाना, निर्वाचक मंडल के सदस्यों तक पहुंचना और उनका सहयोग लेना है। मैं सभी दलों और राज्यों से समर्थन के लिए अनुरोध करूंगी।

राष्ट्रपति चुनाव जीती तो नया इतिहास बनेगा

उल्लेखनीय है कि द्रौपदी मुर्मू अगर राष्ट्रपति चुनाव में जीत दर्ज करती हैं, तो वे राष्ट्रपति बनने वाली देश की पहली आदिवासी महिला होंगी। उनसे पहले नीलम संजीव रेड्डी देश के सबसे युवा राष्ट्रपति रहे थे। इससे पहले कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने पूर्व भाजपा नेता व हाल में टीएमसी से इस्तीफा देने वाले यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति पद के लिए अपना संयुक्त उम्मीदवार घोषित किया है।

मालूम हो कि देश के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है। अगले राष्ट्रपति के चुनाव के लिए 18 जुलाई को मतदान किया जाएगा, जिसके नतीजे 21 जुलाई को आएंगे। फिलहाल राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया जारी है। 29 जून नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि है।

Read Also: निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव की तारीख का किया ऐलान, ये रहेगा पूरा कार्यक्रम

COMMENT