घरेलू उड़ानों का शर्तों के साथ न्यूनतम और अधिकतम किराया निर्धारित, 25 मई से परिचालन बहाल

Views : 1080  |  3 minutes read
Minister-Hardeep-Singh-Puri

देश में कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन के बीच एक राहत भरी ख़बर आई है। दरअसल, केंद्र सरकार ने 25 मई से घरेलू उड़ानों का परिचालन बहाल करने का फैसला किया है। देश में करीब 60 दिन बाद हवाई सेवा फिर से शुरू होगी। इसको लेकर गुरुवार को नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यात्रा के लिए तय किराया और इससे जुड़ी शर्तों की जानकारी दीं। साथ ही उन्होंने कहा कि अभी तक ‘वंदे भारत मिशन‘ के तहत 20 हजार से अधिक लोगों को स्वदेश वापस लाया जा चुका है।

हालात को सामान्य करने के लिए आत्मविश्वास मिला

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि हमनें जब पांच मई को ‘वंदे भारत मिशन’ की शुरुआत की थी, तब हम वर्चुअली मिले थे। लेकिन 21 मई को आज हम आमने-सामने मिल रहे हैं, यह सबूत है कि हालात को सामान्य करने के लिए हमें काफी आत्मविश्वास मिला है। अब तक वंदे भारत मिशन के तहत 20 हजार से अधिक लोगों को भारत वापस लाया गया है। उन्होंने कहा कि ​वंदे भारत मिशन के तहत हमारा प्रयास सभी को वापस लाने का नहीं था, बल्कि पूरा जोर उन नागरिकों को निकालने का था जो सही मायनों में विदेशों में फंसे थे।

घरेलू उड़ानों के अनुभव के बाद अंतरराष्ट्रीय के बारे में सोचेंगे

केंद्रीय मंत्री पुरी ने कहा कि घरेलू उड़ानों को शुरू करने के अनुभव के आधार पर हमें कुछ प्रक्रियाओं को बदलना पड़ सकता है, तभी हम इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू करने के बारे में सोचेंगे। उन्होंने कहा कि 25 मई से हम घरेलू विमानों के संचालन को फिर से शुरू करेंगे। इस दौरान सभी यात्रियों को फेस मास्क और सैनिटाइजर बोतल साथ रखनी होगी। एयरलाइंस खाना नहीं देगी। पानी की बोतलें गैलरी एरिया या सीटों पर दी जाएंगी। एक सेल्फ डिक्लेरेशन या आरोग्य सेतु ऐप की मदद से यात्रियों के कोरोना के लक्षणों से मुक्त होने का पता लगाया जाएगा।

नागरिक उड्डयन मंत्री ने आगे कहा कि आरोग्य सेतु ऐप पर लाल स्टेट्स वाले यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। केबिन क्रू को पूर्ण सुरक्षात्मक गियर में होना आवश्यक होगा। केवल एक चेक-इन बैग की अनुमति होगी। यात्रियों को प्रस्थान के समय से कम से कम 2 घंटे पहले रिपोर्ट करना होगा। उन्होंने कहा कि घरेलू उड़ानों के किराये में एक तय सीमा में बदलाव भी होगा। यह आदेश जो जारी किया जा रहा है वह 24 अगस्त, 2020 को 23:59 बजे तक लागू रहेगा।

चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ से बंगाल में 72 लोगों की मौत का सीएम ममता बनर्जी ने किया दावा

उड़ान मार्गों को कुल 7 मार्गों में वर्गीकृत किया

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया, ‘हमने एक न्यूनतम और अधिकतम किराया निर्धारित किया है। दिल्ली, मुंबई के मामले में 90-120 मिनट के बीच की यात्रा के लिए न्यूनतम किराया 3500 रुपए होगा, अधिकतम किराया 10,000 रुपए होगा। यह 24 अगस्त तक यानि करीब 3 महीने तक के लिए निर्धारित है। उन्होंने कहा कि उड़ान मार्गों को कुल 7 मार्गों में वर्गीकृत किया गया है। पहला 40 मिनट से कम की फ्लाइट दूरी, दूसरा 40-60 मिनट, तीसरा 60-90 मिनट, चौथा 90-120 मिनट, पांचवां 120-150 मिनट और छठा 150-180 मिनट व सातवां 180-210 मिनट। आपको बता दें कि देश के भीतर सभी हवाई मार्ग इन 7 मार्गों के भीतर आते हैं।

COMMENT