चीन की वुहान स्थित लैब से लीक होकर पूरी दुनिया में फैला कोरोना: वैज्ञानिक निकोलस वेड

Views : 773  |  3 minutes read
Corona-Leaked-From-Wuhan

पिछले करीब सवा साल से पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से पैदा हुए गंभीर संकट से जूझ रही है। यह महामारी आगे कब तक जारी रहेगी, इसका भी कोई अनुमान नहीं लगाया जा सका है। इसी बीच कई देश कोरोना वायरस की शुरुआत कहां से और कैसी हुई इस पर शोध कर रहे हैं, ताकि ये पता लगाया जा सके कि यह वायरस मानव निर्मित है या प्राकृतिक। कोरोना वायरस को लेकर हाल में हुए एक नए शोध के दावा किया गया है कि कोरोना को चीनी वैज्ञानिकों ने एक लैब में बनाया था, जहां से ये लीक हो गया। शोध में बताया गया कि लैब से निकलकर यह वायरस पूरी दुनिया में फैल गया और पिछले सवा साल से तबाही मचा रहा है।

दावा- BSL2 लैब में बनाया गया वायरस पूरी दुनिया में लीक हुआ

साइंस रिसर्च मैग्जीन बुलेटिन ऑफ एटोमिक साइंटिस्ट में प्रकाशित एक लेख में प्रसिद्ध वैज्ञानिक-लेखक निकोलस वेड ने दावा किया है कि कोरोना वायरस को चीन के वुहान स्थित BSL2 लैब में बनाया गया है, जहां से यह वायरस पूरी दुनिया में लीक हुआ। वेड ने वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी को फंड मुहैया कराने वाली अमेरिकी संस्था इकोहेल्थ एलायंस ऑफ न्यूयॉर्क के अध्यक्ष डॉ. पीटर डास्जैक के इंटरव्यू को अपने लेख का आधार बनाया है।

बता दें कि अपने इंटरव्यू में पीटर डास्जैक ने पहली बार खुलासा किया था कि वुहान लैब में स्पाइक प्रोटीन की रिप्रोग्रामिंग और ह्यूमनाइज्ड चूहों को संक्रमित करने वाले काइमेरिक कोरोना वायरस तैयार किए जाते हैं। डॉ. डास्जैक ने जानकारी दी थी कि करीब छह से सात सालों से लैब में सार्स से संबंधित करीब 100 से ज्यादा नए कोरोना वायरस ढूंढे गए। इनमें से कुछ को मानव कोशिकाओं पर आजमाया गया।

वायरस के लीक की आशंकाओं को खारिज करने की कोशिश हुई

वैज्ञानिक निकोलस वेड ने अपने लेख में लिखा है कि चीन की वुहान वायरोलॉजी लैब में कोरोना वायरस के संक्रमण क्षमता बढ़ाने पर लगातार रिसर्च जारी है। उन्होंने बताया कि इतना ही नहीं डॉ. डास्जैक को यह भी मालूम था कि वहां वैज्ञानिकों को पूरी तरह से संक्रमण से सुरक्षित रखने की तैयारियों में खामियां थीं। बावजूद इसके महामारी फैलने के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों को पर्याप्त जानकारी नहीं दी गई, बल्कि वायरस के लीक होने की आशंकाओं को खारिज करने की भी भरसक कोशिश की गई। आपको बता दें कि इससे पहले कई प्रमुख वैज्ञानिक चीन पर वायरस फैलाने के सीधे आरोप लगा चुके हैं।

Read: आईसीएमआर ने टेस्ट किट को मंजूरी दी, अब घर पर खुद भी कर सकेंगे कोरोना की जांच

COMMENT