ब्रिटेन की गृहमंत्री बनी भारतीय मूल की प्रीति पटेल, पढ़ें उनका राजनीतिक सफर

3 read

हाल में ब्रिटेन नव गठित सरकार में प्रधानमंत्री बने बोरिस जॉनसन ने भारतीय मूल की महिला प्रीति पटेल को गृहमंत्री बनाया है। प्रीति ब्रिटेन में भारतीय मूल की पहली महिला गृहमंत्री बनी हैं। ब्रिटेन की पूर्व पीएम टेरीजा मे की ब्रेक्जिट रणनीति के प्रखर आलोचकों में शामिल थीं। इससे पहले प्रीति टेरीजा मे की सरकार में शामिल थीं लेकिन इजराइल के साथ गुप्त बैठकें करने के आरोप के कारण उन्हें त्यागपत्र देना पड़ा था।

प्रीति कंजरवेटिव पार्टी नेतृत्व के लिए ‘बैक बोरिस’ अभियान की प्रमुख सदस्य थी। गुजराती मूल की नेता प्रीति ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों के सभी प्रमुख आयोजनों में अतिथि के रूप में भाग लेती हैं। वह भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बड़ी प्रशंसक भी हैं। प्रीति पाकिस्तानी मूल के साजिद जाविद की जगह लेंगी जिन्हें ब्रिटेन के वित्त मंत्रालय में पहला अल्पसंख्यक चांसलर बनाया गया है।

प्रीति पटेल ने कहा, ‘हम अपने देश को सुरक्षित रखने के लिए, अपने लोगों को सुरक्षित रखने के लिए और अपराधों से लड़ने के लिए अपनी पूरी शक्ति लगाएंगे। मैं आगे आने वाली चुनौतियों का इंतजार कर रही हूं।’

प्रीति पटेल के गृहमंत्री बनने से ब्रिटेन और भारत रिश्तों में ओर अधिक मजबूती आने के पक्षधर है। आशा जताई जा रही है कि नई सरकार के गठन के बाद भारत के भगोड़े आर्थिक अपराधियों पर शिकंजा कसेगा। प्रीति के गृहमंत्री बनने से जल्द ही विजय माल्या और नीरव मोदी केस में भारत के पक्ष में फैसला आने की उम्मीद है।

प्रीति का राजनीतिक सफर

47 वर्षीय प्रीति पटेल ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मारग्रेट थैचर को अपना आदर्श मानती है। उन्होंने अपना राजनीतिक सफर वर्ष 2005 के आम चुनावों में नॉटिंघम नॉर्थ सीट पर चुनाव लड़कर शुरू किया लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। वह पहली बार वर्ष 2010 में एसेक्स काउंटी के विथम शहर सीट से चुनाव जीती और सांसद बनी। उस समय तत्कालीन डेविड कैमरन की अगुवाई वाली टोरी सरकार में प्रवासी भारतीय सांसद थी।

ब्रेक्ज़िट अभियान की प्रखर समर्थक प्रीति पटेल वर्ष 2014 में ट्रेज़री मंत्री थीं। वर्ष 2015 के आम चुनावों के बाद उन्हें रोजगार मंत्री बनाया गया। इसके बाद उन्हें जून 2016 में डिपार्टमेंट ऑफ इंटरनेशनल डेवलपमेंट में राज्य सचिव के पद पर पदोन्नत किया गया। इस पद पर उन्हें ब्रिटेन की विकासशील देशों को दी जाने वाली आर्थिक मदद के काम पर निगरानी रखना था। लेकिन वर्ष 2017 में इजरायल के साथ गुप्त बैठक करने के आरोप में उन्हें पद छोड़ना पड़ा।

उन्होंने समलैंगिक विवाह के ख़िलाफ़ मतदान किया और धूम्रपान पर प्रतिबंध के खिलाफ भी अभियान चलाया था। वह इसराइल की एक पुरानी समर्थक रही हैं।

प्रारंभिक परिचय

प्रीति पटेल का जन्म 29 मार्च, 1972 को लंदन में एक भारतीय मूल के गुजराती परिवार में हुआ था। उनके पिता सुशील और माता अंजना पटेल हैं। उनके परिवार वाले पहले युगांडा में रहते थे लेकिन वहां से निर्वासित करने के बाद ब्रिटेन में निवास करने लगे। प्रीति ने वैटफ़ोर्ड ग्रामर स्कूल फ़ॉर गर्ल्स से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की। प्रीति ने उच्च शिक्षा कीले विश्वविद्यालय और एसेक्स विश्वविद्यालय से हासिल की है।

उन्होंने कंजर्वेटिव पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में नौकरी की है और वर्ष 1995 से 1997 तक रेफरेंडम पार्टी से जुड़ी रही थी। उन्होंने शराब बनाने वाली प्रमुख कंपनी डायजीयो के साथ भी काम किया है।

COMMENT

Chaltapurza.com, एक ऐसा न्यूज़ पोर्टल जो सबसे पहले, सबसे सटीक की भागमभाग के बीच कुछ अलग पढ़ने का चस्का रखने वालों का पूरा खयाल रखता है। हम देश-विदेश से लेकर राजनीतिक हलचल, कारोबार से लेकर हर खेल तो लाइफस्टाइल, सेहत, रिश्ते, रोचक इतिहास, टेक ज्ञान की सभी हटके खबरों पर पैनी नजर रखने की कोशिश करते हैं। इसके साथ ही आपसे जुड़ी हर बात पर हमारी “चलता ओपिनियन” है तो जिंदगी की कशमकश को समझने के लिए ‘लव यू जिंदगी’ भी कुछ अलग है। हमारी टीम का उद्देश्य आप तक अच्छी और सही खबरें पहुंचाना है। सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे इस प्रयास को निरंतर आप लोगों का प्यार मिल रहा है…।

Copyright © 2018 Chalta Purza, All rights Reserved.