बर्थडे स्पेशल: पिता थे सिक्योरिटी गार्ड और मां का बचपन में निधन हो गया​, कुछ ऐसी है रविन्द्र जडेजा की कहानी

Views : 1741  |  0 minutes read
Ravindra-Jadeja

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार ऑल राउंडर रविन्द्र जडेजा 6 दिसंबर को अपना 31वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। उनका जन्म 6 दिसंबर, 1988 को गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में ​जामनगर जिले स्थित नवागाम-खेड़ में हुआ। जड़ेजा एक सामान्य परिवार से आते हैं। उनके पिता अनिरूद्ध सिंह एक प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी में सिक्योरिटी गार्ड (वॉचमैन) का काम करते थे और उनकी मां लता नर्स थीं। जडेजा के पिता उन्हें आर्मी ऑफिसर बनाना चाहते थे, जबकि उनकी मां उन्हें भारत के लिए क्रिकेट खेलते देखना चाहती थी। जडेजा की भी क्रिकेट में काफ़ी रूचि थी।

वर्ष 2005 में एक दुर्घटना में उनकी मां की मौत हो गई और इससे जडेजा बेहताशा टूट गए थे। उन्होंने निराश होकर क्रिकेट छोड़ने तक का विचार कर लिया था। बहनों के कहने पर वो खेल में वापस लौटे और आज भारतीय टीम के स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी हैं। मां के सपने को पूरा करने के लिए जडेजा ने जमकर मेहनत की और एक दिन टीम इंडिया के​ लिए खेलकर उनका सपना भी पूरा कर दिखाया। जडेजा ने कई मौकों पर टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाई है। ऐसे में रविन्द्र जडेजा के जन्मदिन के मौके पर जानते हैं उनके बारे में कुछ और दिलचस्प बातें…

Ravindra-Jadeja

सौराष्ट्र से हुई जडेजा के कॅरियर की शुरुआत

रविन्द्र जडेजा का साल 2002 में पहली बार सौराष्ट्र की अंडर-14 टीम में चयन हुआ। उन्होंने महाराष्ट्र के खिलाफ पहले ही मैच में 87 रन बनाए और 4 विकेट भी अपने नाम किए। 15 साल की उम्र में ही जडेजा सौराष्ट्र की अंडर-19 टीम में शामिल कर लिए गए। जडेजा 2008 में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रह चुके हैं।

घरेलू क्रिकेट में अच्छे प्रदर्शन के दम पर वर्ष 2005 में जडेजा को भारत की अंडर-19 टीम में जगह मिल गई थी। इसके बाद साल 2006 में श्रीलंका में हुए अंडर- 19 वर्ल्ड कप में भी जडेजा खेले थे। उस वक़्त उनकी उम्र महज 16 वर्ष थी। भारत ने वर्ष 2008 में विराट कोहली के नेतृत्व में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता, उस टीम में रविन्द्र जडेजा भी शामिल थे। इसी साल यानि वर्ष 2008 में आईपीएल के प्र​थम सीजन में जडेजा को राजस्थान रॉयल्स ने अपनी टीम में शामिल कर लिया था।

Ravindra-Jadeja

आईपीएल से खुली टीम इंडिया के लिए खेलने की राह

आईपीएल में अपने प्रदर्शन से चर्चा में आने के बाद फरवरी, 2009 में रविन्द्र जडेजा को टीम इंडिया के लिए वनडे और फिर टी-20 खेलने का मौका मिला। इसके बाद साल 2012 में जडेजा ने टेस्ट डेब्यू किया। अगर रविन्द्र जडेजा के परिवार की बात करें तो उनके परिवार में 2 बहनें, पिता, उनकी पत्नी और एक बेटी शामिल हैं। जडेजा की एक बहन उनका रेस्टोरेंट का बिजनेस संभालती हैं और दूसरी बहन जामनगर में नर्स हैं।

रविन्द्र जडेजा ने 17 अप्रैल 2016 को रीवा सोलंकी से शादी की। इन दोनों की एक प्यारी बेटी निध्याना भी है, जिसका जन्म साल 2017 में हुआ। जडेजा के पास दो ऑडी कार हैं। इसके अलावा उन्हें घोड़े पालने का भी बड़ा शौक है। उनके फॉर्म हाउस में कई शानदार घोड़े हैं। जडेजा के दो उपनाम ‘जड्डू’ और ‘सर जडेजा’ हैं।

Ravindra-Jadeja
अब तक ऐसा रहा है जडेजा का इंटरनेशनल कॅरियर

रविन्द्र जडेजा ने भारत के लिए 8 जनवरी, 2009 को श्रीलंका के खिलाफ वनडे कॅरियर की शुरुआत की थी। उनका टी-20 डेब्यू भी 10 फरवरी, 2009 को श्रीलंका के विरूद्ध ही हुआ। इसके करीब चार साल बाद 13 दिसंबर, 2012 को जडेजा ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया। रविन्द्र जडेजा के अब तक के इंटरनेशनल कॅरियर की बात करें तो उन्होंने 156 एकदिवसीय मैचों में 11 अर्धशतक की मदद से 2128 रन बनाए हैं और 178 विकेट भी अपने नाम किए हैं।

Read More: भारतीय विदेश सेवा के सर्वोच्च पद पर काम करने वाली दूसरी महिला हैं निरुपमा राव

उन्होंने 48 टेस्ट में एक शतक व 14 अर्धशतक की मदद से 1844 रन बनाए हैं और 211 विकेट चटकाए हैं। अगर जडेजा के टी-20 इंटरनेशनल कॅरियर की बात करें तो उन्होंने 44 मैचों में 154 रन बनाए हैं और 33 विकेट भी झटके हैं। रविन्द्र जडेजा ने 2019 के विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ 77 रन की बेहतरीन पारी खेली, लेकिन वे टीम को जीत नहीं दिला सके थे। जडेजा प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तीन तिहरे शतक लगाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं।

 

COMMENT