बिल गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा गेट्स ने 27 साल बाद अलग होने का किया फैसला

Views : 1621  |  3 minutes read
Bill-Gates-Melinda-Divorce

दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा गेट्स ने शादी के 27 साल बाद अलग होने का फैसला किया है। दोनों ने एक संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा, ‘हमने अपनी शादी को खत्म करने का फैसला किया है। हमें लगता है कि एक युगल के तौर पर हम जीवन के इस मोड़ पर एक साथ आगे बढ़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि काफी बातचीत और अपने रिश्ते पर काम करने के बाद हमने अपनी शादी खत्म करने का फैसला लिया है।’

फाउंडेशन के लिए दोनों आगे भी साथ में काम करेंगे

दोनों की ओर से जारी इस संयुक्त बयान में कहा गया, ‘हमने बीते 27 साल में अपने तीन शानदार बच्चों को पालकर बड़ा किया है। हमने एक फाउंडेशन भी बनाया है, जो विश्वभर में लोगों के स्वस्थ्य और अच्छे जीवन के लिए काम करता है। हम इस मिशन के लिए अब भी भी एक जैसी सोच रखेंगे और साथ काम करेंगे। हालांकि, हमें अब लगता है कि हम जीवन के आने वाले समय में बतौर पति पत्नी साथ नहीं रह पाएंगे। हम नया जीवन शुरू करने जा रहे हैं। ऐसे में लोगों से हमारे परिवार के लिए स्पेस और प्राइवेसी की अपेक्षा है।’

न्यूयॉर्क एक्सपो-ट्रेड मेले में हुई थी पहली मुलाकात

आपको जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति रहे बिल गेट्स और मेलिंडा की मुलाकात वर्ष 1987 में न्यूयॉर्क में एक्सपो-ट्रेड मेले में हुई थी। यहीं से दोनों के बीच बातचीत शुरू हुई थी। मेलिंडा माइक्रोसॉफ्ट में एक प्रोडक्ट मैनेजर के तौर पर काम करती थीं। माइक्रोसॉफ्ट की कार पार्किंग में बिल गेट्स ने उन्हें बाहर घूमाने के लिए पूछा था। बिल ने पूछा था कि अब से दो सप्ताह, क्या तुम फ्री हो? लेकिन मेलिंडा ने उनका प्रस्ताव ठुकराते हुए कहा था कि समय आने पर मुझसे ये सवाल करें।

इसके बाद भी बिल ने हार नहीं मानी और धीरे-धीरे दोनों की बात आगे बढ़ी। कुछ महीनों बाद दोनों ने इस रिश्ते को सफल बनाया। वर्ष 1993 में उन्होंने सगाई की और साल 1994 में नए साल के दिन दोनों ने शादी कर ली। गेट्स दंपती ने अमेरिका के हवाई प्रांत में विवाह किया था। गौरतलब है कि बिल गेट्स पूर्व में दुनिया के सबसे अमीर शख्स रह चुके हैं और उनकी संपत्ति 100 अरब डॉलर से भी अधिक होने का अनुमान है।

Read More: संयुक्त राष्ट्र के तीन निकायों में निर्वाचित हुआ भारत, तीन साल का होगा कार्यकाल

COMMENT