ट्रेड यूनियनों के भारत बंद में बैंक यूनियन भी शामिल, जानें क्या है मांगें

Views : 1247  |  2 Minute read

केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ देशभर में आज 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने विरोध स्वरूप आज भारत बंद जारी है। देश भर में जगह जगह हड़तालें की जा रही है। इस हड़ताल को प्रभावी बनाने के लिए कई बैंक यूनियनों भी शामिल हुआ हैं। इन बैंक की जिस ब्रांच के कर्मचारी शामिल होंगे वहां कामकाज प्रभावित होने की संभावना है। साथ ही एटीएम में भी कैश की किल्लत से दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

क्या है ट्रेड यूनियनों की मांग

देश की जो ट्रेड यूनियन ने भारत बंद का आवाहन किया है, उनका दावा है कि मौजूदा केंद्र सरकार की ओर से आर्थिक और जन विरोधी नीतियों को लागू किया जा रहा है। साथ केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे लेबर लॉ का भी विरोध किया जा रहा है। वहीं छात्र यूनियन की ओर से शैक्षिक संस्थानों में फीस बढ़ाने का विरोध किया जा रहा है। यूनियन की मांग है कि केंद्र सरकार को कर्मचारियों से बातचीत करके आगे की नीतियां बनानी चाहिए।

ट्रेड यूनियन की ओर से 13 बिंदुओं को लेकर अपनी मांग रखी गई हैं, उनमें प्रमुख हैं— आम लोगों की जरूरत वाली चीजों के बढ़ते दाम को काबू में किया जाए, मजदूरों की तनख्वाह में वृद्धि की जाए। पब्लिक डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम, बेरोजगारी, महंगाई पर काबू पाने के लिए नीति बनाई जाए। यूनियन की मांग है कि यूनियन मजदूरों की न्यूनतम वेतन 21 हजार रुपए प्रति माह की जाए।

अन्य मांगों में सोशल हेल्थ सर्विस में खुद को शामिल करना, मजदूरों को मिड डे मील मिलना, 6000 रुपए की न्यूनतम पेंशन आदि हैं।

गौरतलब है कि ट्रेड यूनियनों इस भारत बंद में हिस्सा लेने के लिए पिछले महीने संयुक्त तौर पर एक सर्कुलर जारी किया था। मोदी सरकार द्वारा सरकारी बैंकों का विलय और बैंकिंग सुधारों को लेकर बैंकिंग यूनियंस केंद्र से नाराज चल रहे हैं।

भारत बंद में इन ट्रेड यूनियन ले रही हैं भाग

-कांग्रेस मजदूर संगठन- इंटक
-वामदलों का मजदूर संगठन- एटक
-सीटू
-एआईयूटीयूसी
-टीयूसीसी
-एसईडब्ल्यूए
-एआईसीसीटीयू
-एलपीएफ
-यूटीयूसी
-सोशलिस्ट

ये बैंक यूनियन भी कर रही हैं हड़ताल का समर्थन

-भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए)
-अखिल भारतीय बैंक अधिकारी संघ (एआईबीओए)
-भारतीय बैंक कर्मचारी महासंघों
-बैंक कर्मचारी सेना महासंघ आदि

COMMENT