कौन है ये तमिल रॉकर्स जिन्होंने ‘Avengers Endgame’ लीक कर दी है !

Views : 1471  |  0 minutes read

हॉलीवुड फिल्म ‘अवेंजर्स: एंडगेम’ इस शुक्रवार को भारत में रिलीज होगी लेकिन इससे पहले एक बुरी खबर आई है, पिछले कुछ समय से फिल्मों को रिलीज से पहले लीक कर आतंक मचाने वाली वेबसाइट TamilRockers.com ने इस फिल्म को भी ऑनलाइन लीक कर दिया है।

जहां एक तरफ फिल्म के टिकट 2,400 रुपये तक बिक रहे हैं वहीं इस वेबसाइट पर ये फिल्म भी पाइरेसी का शिकार हो गई है।

दुनिया में हर जगह पायरेसी एक बहुत बड़ी समस्या है। यहां तक कि पिछले कई सालों से बॉलीवुड में भी यह एक बीमारी की तरह घर करने के बाद अब हॉलीवुड फिल्में भी इसका शिकार होने लगी है। हालांकि सरकार ने पायरेसी रोकने के लिए समय-समय पर जरूरी कदम उठाए हैं, हाल में सिनेमेटोग्राफी एक्ट में संशोधन इसका ताजा उदाहरण है। इसके बावजूद फिल्मों की पायरेसी में कोई कमी नहीं आई है।

तमिलरॉकर्स नाम के एक ऑनलाइन पोर्टल पर पिछले कुछ समय से हर दूसरी बॉलीवुड फिल्म रिलीज के अगले दिन ही लीक हो जाती है। इस पोर्टल पर शुरूआत टॉलीवुड और कॉलीवुड फिल्मों की लीक से हुई जिसने फिर बॉलीवुड फिल्मों को और अब हॉलीवुड को भी लपेटे में ले लिया और अपलोड करना शुरू कर दिया।

जब इंटरनेट पर पायरेसी वाली साइटें बिना रिलीज़ के या रिलीज के अगले ही दिन फ़िल्में लीक कर देती हैं, तो प्रोड्यूसर्स के फिल्म में लगे करोड़ों रूपये पानी में बह जाते हैं। तमिलरॉकर्स वेबसाइट को लेकर इतना होहल्ला इसलिए हो रहा है क्योंकि इस वेबसाइट पर आने वाली हर दूसरी फिल्म लीक हो रही है जिसने प्रोड्यूसर को दिवालिया होने की कगार पर धकेल दिया है।

पायरेसी वाली वेबसाइटों के हाथ कैसे लगती है फिल्म

आप और हम में से काफी लोग यह सोचते होंगे कि तमिलरॉकर्स जैसी पायरेसी वेबसाइटों के पास फिल्में इतनी जल्दी कैसे पहुँच जाती है? खैर, किसी भी फिल्म की रिलीज से पहले, फिल्म के प्रोड्यूसर प्रेस और बॉलीवुड से जुड़े अन्य दिग्गजों के लिए फिल्म के एक प्रीमियर का आयोजन करते हैं। फिल्म का प्रीमियर थिएटर और रिकॉर्डिंग स्टूडियो जैसी कई जगहों पर किया जाता है। इसका मतलब जहां भी फिल्म का प्रीमियर रखा जाता है वहां फिल्म की एक कॉपी जरूर भेजी जाती है।

यह वही जगह है जहां पायरेसी वेबसाइटों तक फिल्मों की पहली पहुंच होती है। वह स्टूडियो के मालिकों और प्रिंट वालों से संपर्क रखते हैं और फिल्म की एक कॉपी के लिए मोटी रकम देते हैं।

इसके अलावा एक और तरीका है जिससे फिल्मों का पायरेटेड वर्जन जुगाड़ा जा सकता है वो है वर्ल्डवाइड फिल्म डिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी (WDF) के माध्यम से। WDF के तहत, सिनेमाघरों एक सर्वर लिंक पर अपलोड की गई मूवी को अपनी स्क्रीन पर चलाते हैं।

पायरेसी वाले सिनेमाघरों में जाते हैं मूवी की स्ट्रीमिंग लिंक को खरीदते हैं। वहीं पायरेसी साइट्स लोगों को सिनेमाघरों में फिल्मों को रिकॉर्ड करने के लिए भी पैसे देती है।

पकड़ में क्यों नहीं आते हैं फिर ?

बॉलीवुड से जुड़े कई तकनीकी लोगों ने इन्हें रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं लेकिन तमिलरॉकर्स जैसे मास्टरमाइंड हर बार बचने में कामयाब रहते हैं। वे लगातार मूर्ख बनाने के लिए डोमेन का नाम बदलते रहते हैं।

जून 2018 को, TFPC यानि एंटीपाइरेसी सेल ने कुछ तमिलरॉकर्स को धर दबोचा था। इससे पहले भी दिसंबर 2016 और सितंबर 2017 में इसके मालिक गिरफ्तार हो चुके हैं लेकिन हाल अब भी बेहाल हैं। एंटीपाइरेसी सेल वालों ने इनकी दो वेबसाइटों को बंद करने में कामयाबी हासिल की थी। लेकिन कुछ ही समय बाद तमिलरॉकर्स अलग डोमेन से वापस आ गए।

इन फिल्मों को किया लीक

तमिल रॉकर्स को कुछ समय पहले साउथ इंडियन फिल्में लीक करने के लिए जाना जाता था लेकिन कुछ समय से इनकी वेबसाइटों पर फिल्म ‘संजू’, ‘2.0’, ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’, ‘सिम्बा’, ‘सरकार’, ‘काला’, ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’, ‘मणिकर्णिका’ जैसी बड़ी फिल्में लीक की। अब ताजा में ‘गली बॉय’ के लीक होने की भी खबरें आ रही हैं।

COMMENT