परिवहन विभाग में एसीबी की कार्रवाई के बाद गरमाई राजस्थान की सियासत

Views : 2027  |  3 minutes read

गत दिनों राजधानी जयपुर में एसीबी की ओर से परिवहन विभाग में भ्रष्ट्राचार के खिलाफ बडे स्तर पर कार्रवाई कर खुलासा होने के बाद राजस्थान की राजनीति अचानक गरमा गई है और विपक्ष ने राज्य सरकार को घेर रखा है। इधर इस मामले में प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि एसीबी के इस एक्शन से निर्दोष अधिकारियों को डरने की जरूरत नहीं है।

एसीबी ने किया था भ्रष्ट्राचार के इस मामले का खुलासा

एंटी करप्शन ब्यूरो ने रविवार को परिवहन विभाग में भ्रष्ट्राचार के एक बडे मामले का खुलासा किया था। आरोप है कि दलाल वाहन मालिकों को डरा धमका कर अफसरों के लिए मासिक बंधी लेते थे। एसीबी ने इस मामले में 8 अफसरों के अलावा 7 दलालों को हिरासत में लेकर जांच शुरू की है।

विधानसभा में भी उठा मामला, विपक्ष ने घेरा

एसीबी द्वारा परिवहन विभाग में भ्रष्ट्राचार का यह खुलासा करने के बाद इस मामले को लेकर राज्य सरकार घिरी हुई है। सोमवार को राजस्थान विधानसभा में भी इस मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ। दूसरी तरफ भाजपा ने भी सरकार पर आरोप लगाए हैं।

Read More: राजस्थान में नई बाइक खरीदने पर अब मिलेगा मुफ्त हेलमेट

सतीश पूनिया का ट्वीट- सवा साल बदहाल राजस्थान, कैसे निकलेंगे चार साल

भाजपा राजस्थान अध्यक्ष सतीश पूनिया ने एक ट्वीट कर आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार की पारदर्शिता का यह सबसे बड़ा उदाहरण है और एक साल के बाद यह कलई खुलना शुरू हो गई है और इस कालिख से सरकार बच नहीं पाएगी। इसके अलावा पूनिया ने यह भी लिखा है कि सवा साल बदहाल राजस्थान, कैसे निकलेंगे चार साल।

परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास बोले- एसीबी हमारे अंडर में

एसीबी की कार्रवाई के बाद विपक्ष के आरोपों से ​सरकार घिरी हुई है। इस मामले में परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने मीडिया से कहा कि मुझे किसी को कोई सफाई देने की जरूरत नहीं है। अगर एसीबी कार्रवाई करती है तो मुख्यमंत्री व मंत्री की इच्छा से ही करती है। एसीबी हमारे अंडर में है और हम एसीबी के अंडर में नहीं है क्यों कि एसीबी राजस्थान सरकार के अंतर्गत ही आती है।

 

 

COMMENT