बेटे के 10वीं में 60% बनने पर उसकी मां ने जो कहा उसे हर माता-पिता को पढ़ना चाहिए !

Views : 1338  |  0 minutes read

सीबीएसई, आईसीएसई और कई राज्यों के 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं के नतीजे हाल में जारी किए गए। जिसके बाद छात्रों के संघर्ष और 500 से 499 लाने वाले बच्चों की कहानियों से सोशल मीडिया भरा पड़ा है। लेकिन दिल्ली की एक मां, जिसके बेटे ने 10वीं में 60% हासिल किए हैं, ने फेसबुक पर अपने बेटे के लिए कुछ लिखा है जिसे लोग जमकर शेयर कर रहे हैं।

वंदना सूफिया कटोच ने 6 मई को एक फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि किस तरह परीक्षा और परिणाम के तनाव के माहौल के बीच उन्हें अपने के रिजल्ट पर कितना गर्व है।

उनकी फेसबुक पोस्ट कुछ इस प्रकार है-  “मुझे मेरे बेटे पर बहुत गर्व है, जिसने 10वीं बोर्ड परीक्षा में 60% हासिल किए हैं। हां, यह 90% नहीं है लेकिन मेरी खुशी और मैं कैसा महसूस कर रही हूं ये नहीं बदलेगा।

सिर्फ़ इसलिए कि मैंने उसे कुछ विषयों के साथ काफी संघर्ष करते हुए और लगभग हार मानते हुए देखा है लेकिन परीक्षा से कुछ समय पहले मेरे बेटे ने रात-दिन एक कर दी। यह सब कुछ तुम्हारे लिए ही है मेरे बेटे अमर, उन मछलियों के लिए नहीं जिन्हें परीक्षा के दौरान पेड़ पर चढ़ने के लिए कहा जाता है। तुमने इस महासागर में अपनी क्षमता, सहजता, जिज्ञासा और ज्ञान को जीवित रखा।

फेसबुक पर यह पोस्ट डालने के बाद लोगों ने इसे काफी पसंद किया।

वंदना ने आगे बताया कि वह आज कुछ इस तरह से जश्न मना रही है जैसे उसके बेटे ने 100% अंक हासिल किए हों, भले ही वह कुछ विषयों से आखिरी समय तक जूझ रहा था। उन्होंने यह भी बताया कि माता-पिता को अपने बच्चों के परीक्षा परिणामों को लेकर मानसिकता बदलने की जरूरत है, अपने बच्चे के नंबर की किसी अन्य बच्चे के साथ तुलना ना करें।

अपने बेटे के बारे में कहते हुए वंदना ने कहा कि “मुझे अपने बेटे और उसकी क्षमताओं पर विश्वास है। मैं चाहती हूं कि मेरा बच्चा अपनी ताकत का पता लगाए और अपनी रुचि के क्षेत्र में आगे बढ़े।”

गौरतलब है कि 6 मई को, CBSE ने 10वीं बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम जारी किए, जिसमें पूरे भारत से 17.6 लाख से अधिक छात्र बैठे थे। सीबीएसई के अनुसार, परीक्षा में बैठने वाले 91.1% छात्र पास हुए हैं, जो पिछले साल की तुलना में 4.4 प्रतिशत अधिक है।

COMMENT