राजस्थान यूनिवर्सिटी: छात्रसंघ चुनाव में तीन साल से जीत रहे निर्दलीय अध्यक्ष, एबीवीपी और एनएसयूआई ने इन्हें बनाया प्रत्याशी

Views : 1092  |  0 minutes read
chaltapurza.com

राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव-2019 के लिए दोनों प्रमुख छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) और नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने लगभग सभी पदों पर अपने-अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। हालांकि, अभी एनएसयूआई को उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद के लिए प्रत्याशियों का ऐलान करना बाक़ी है। माना जा रहा है इस बार दोनों ही प्रमुख संगठनों के बीच कड़ी टक्कर होगी। इस बार पिछले साल से करीब एक हजार मतदाता ज्यादा हैं। आइए जानते हैं एबीवीपी तथा एनएसयूआई ने अपेक्स पदों के लिए किसको अपना प्रत्याशी बनाया है और छात्रसंघ चुनाव के लिए वोटिंग कब होगी..

chaltapurza.com

एबीवीपी ने अमित तो एनएसयूआई ने उत्तम को दिया टिकट

राजस्थान यूनिवर्सिटी में एबीवीपी ने अध्यक्ष पद के लिए आरयू लॉ कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष अमित कुमार बड़बड़वाल को अपना प्रत्याशी बनाया है। वहीं, एनएसयूआई ने उत्तम चौधरी को अध्यक्ष पद  पर टिकट दिया है। महासचिव पद के लिए दोनों संगठनों ने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा भी कर दी है। एनएसयूआई ने महासचिव पद पर महावीर गुर्जर को प्रत्याशी बनाया है। एबीवीपी ने महासचिव पद के लिए अरुण शर्मा को मैदान में उतारा है। वहीं, एबीवीपी ने उपाध्यक्ष पद के लिए दीपक कुमार और संयुक्त सचिव पद पर किरण मीना को उम्मीदवार बनाया है। एनएसयूआई बाक़ी 2 पद उपाध्यक्ष व संयुक्त सचिव पद के लिए प्रत्याशियों के नाम का जल्द ऐलान करेगा।

अध्यक्ष पद के लिए दोनों संगठनों ने उतारे जाट प्रत्याशी

राजस्थान यूनिवर्सिटी का छात्रसंघ चुनाव इस बार बेहद रोचक होने की संभावना है। क्योंकि दोनों ही प्रमुख छात्र संगठनों ने जातिगत आंकड़ों को ध्यान में रखते हुए जाट छात्र नेताओं को अपना उम्मीदवार बनाया है। ऐसे में अब अन्य जाति के वोट किसी एक को चुनाव जीताने में अहम साबित होंगे। एबीवीपी का दावा है कि सालभर में संगठन ने कैंपस में छात्रों की हर समस्या काे सुलझाने का बेहतर प्रयास किया है। इसलिए इस बार आरयू में एबीवीपी पैनल विजयी होगा। एबीवीपी ने अपने घोषणा-पत्र में करीब 30 घोषणाएं भी की है।

Read More: बर्थडे स्पेशल: 11 बार के वर्ल्ड चैंपियन उसैन बोल्ट के पास हैं लग्जरी कारों का कलेक्शन!

5 साल से एबीवीपी को नहीं मिली जीत, एनएसयूआई 3 साल से खाली हाथ

राजस्थान यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव के पिछले कुछ परिणाम दोनों ही प्रमुख छात्र संगठन एबीवीपी और एनएसयूआई के लिए अच्छे नहीं रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि पिछले लगातार तीन साल से अध्यक्ष पद पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की। एनएसयूआई को तीन साल पहले हुए दो चुनावों में अध्यक्ष पद पर जीत मिली थी। जबकि पिछले 5 साल में एबीवीपी का कोई प्रत्याशी अध्यक्ष पद पर जीत दर्ज नहीं कर सका है। जबकि पिछले पांच साल प्रदेश में बीजेपी सरकार सत्ता में थी और एबीवीपी को उसकी छात्र इकाई माना जाता है। वर्तमान में कांग्रेस सरकार प्रदेश में सत्ता में हैं और एनएसयूआई को कांग्रेस की स्टूडेंट इकाई माना जाता है।

chaltapurza.com

एबीवीपी के अध्यक्ष पद प्रत्याशी अमित कुमार बड़बड़वाल शाहपुरा के रहने वाले हैं। वह इससे पहले राजस्थान यूनिवर्सिटी, लाॅ काॅलेज के साल 2016-17 में अध्यक्ष रह चुके हैं। तब अमित ने मात्र एक वाेट से जीत दर्ज की थी। वर्ष 2018-19 के आरयू चुनाव में अमित कुमार बड़बड़वाल ने एबीवीपी से टिकट नही मिलने के कारण बाग़ी हाेकर चुनाव लड़ने की घोषणा की थी, लेकिन बाद में उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया था। बता दें, इस बार राजस्थान यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव में 23,853 मतदाता वोटिंग कर सकेंगे। प्रदेश में छात्रसंघ चुनाव इसी महीने 27 अगस्त को होंगे।

COMMENT