भाजपा नेता गुलाब चंद कटारिया ने इस बार अपनी सोच का नंगापन दिखाया है!

Views : 4805  |  0 minutes read

राजस्थान विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी ना सही पर कांग्रेस के हाथों हार मिली, अब हारने के बाद पार्टी नेता गम में डूबे हैं या गहरा सदमा लगा है ये बता पाना मुश्किल है क्योंकि हर दूसरे दिन भाजपा नेताओं के अजीबोगरीब बयान सामने आ रहे हैं।

हाल में भाजपा के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने एक सभा में जो बयान दिया है उसमें नेता जी ने अपनी फूहड़ मानसिकता और सोच के नंगेपन को खुलेआम दिखाया है।

उदयपुर जिले के वल्लभनगर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कटारिया ने कहा कि अगर स्थिति जल्द नहीं बदली, तो हर शहर में एक पाकिस्तान होगा, वे हर शहर में एक पाकिस्तान चाहते हैं, आपके भगवान मंदिरों में रो रहे हैं। उनकी पूजा करने के लिए कोई नहीं है और न ही उनकी देखभाल करने के लिए कोई मौजूद है। कई बार वो लोग यहां हड्डियां और मांस फेंकते हैं, रोज-रोज उनसे कौन लड़ेगा?

ये था उनके भाषण का एक हिस्सा, इससे आप अंदाजा लगाइए राजस्थान के पूर्व गृहमंत्री रहे कटारिया अपने बयानों में किस तरह जाति और वर्ग विशेष के प्रति नफरत उगल रहे हैं। चुनावी हार का हिसाब कटारिया मंच से जनता को उकसाकर कुछ इस तरह लगा रहे हैं।

राजस्थान विधानसभा चुनाव हों या देश के किसी भी कोने में चुनाव का मौसम आएं भाजपा पर हमेशा जातिगत, धर्म विशेष राजनीति करने के आरोप लगते रहे हैं लेकिन कटारिया का यह बयान उस सीमा को भी लांघता हुआ नजर आता है।

बयान के अगले हिस्से में कटारिया ने लव जिहाद पर बोलते हुए कहा कि ‘लोग अपनी बेटियों-बच्चियों को बचाने के लिए घर-बार छोड़ रहे हैं। लव जिहाद क्या है आप समझते हैं? क्यों हमारी बेटियां पंचर बनाने वालों के साथ भाग रही हैं? ये क्या ड्रामा है? इसे समझने की ज़रूरत है।’

पाकिस्तान वाले हिस्से के बाद सामाजिक नफरत का दूसरा शिगूफा कटारिया ने लव-जिहाद का फेंका। जनता को क्या समझने की जरूरत है इससे ज्यादा कटारिया अपनी सोच लोगों पर थोपते हुए नजर आए और सीधे तौर पर ना सही उनकी हर टिप्पणी में वर्ग विशेष के प्रति नफरत की भावना छुपी नजर आई।

अब राजस्थान सरकार में विपक्ष की भूमिका निभाने वाले दल के वरिष्ठ नेता से इस तरह का बयान सुनना मानो ऐसे लगता है भाजपा को अपनी हार एक सपना लग रही है?

COMMENT