एमपी में सियासी बवाल, कांग्रेस का आरोप- भाजपा ने विधायकों को बंधक बनाया

Views : 2031  |  3 minutes read

मध्यप्रदेश में अचानक सियासी सरगर्मी बढ गई हैं। एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने के लिए उनके विधायकों को बंधक बनाने का बडा आरोप लगाया है। वहीं भाजपा ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है। इस मामले में गुरुग्राम स्थित एक होटल में हाईवोल्टेज ड्रामा भी चलता रहा। जानें, क्या है पूरा मामला

दिग्विजय सिंह ने किया था ट्वीट

एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के ट्वीट से राजनैतिक हलचल मच गई। सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा कमलनाथ सरकार के विधायकों की खरीद फरोख्त का प्रयास कर रही है और कांग्रेस के 6 विधायकों सहित लगभग एक दर्जन विधायक भाजपा के कब्जे में हैं।

ऐसे हुआ घटनाक्रम

जानकारी के अनुसार गुरुग्राम स्थित एक होटल में एमपी के 10 विधायक ठहरे हुए थे। इस दौरान कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाया कि सरकार को अस्थिर करने की कोशिश में भाजपा इन विधायकों को यहां लाई और बंधक बनाकर रखा गया है।

6 विधायकों को वापस लाने की सूचना

गुरुग्राम स्थित एक होटल में एमपी के 10 विधायक रूकने की खबर मिलते ही कमलनाथ सरकार हरकत में आ गई। कांग्रेस ने सरकार में मंत्री जयवर्धन सिंह व जीतू पटवारी को इस मामले में दिल्ली भेजा जहां देर रात तक होटल में ड्रामा चलता रहा और खबर है कि कांग्रेस ने 6 विधायकों को यहां से निकाल लिया। इसके अलावा एक समाचार एजेंसी का भी वीडियो आया है जिसमें जीतू पटवारी और जयवर्धन सिंह के साथ बसपा से निलंबित विधायक रमाबाई देखी जा रही हैं।

Read More: कमलनाथ सरकार की घोषणा, एमपी में रिलीज से पहले फिल्म ‘थप्पड़’ टैक्स फ्री

भाजपा ने आरोपों को किया खारिज

इधर भाजपा ने कांग्रेस द्वारा विधायकों की खरीद फरोख्त को लेकर लगाए जा रहे गंभीर आरोपों को खारिज कर दिया है और कहा है कि भाजपा का इस मामले में कोई लेना देना नहीं है ​बल्कि कांग्रेस की यह अंतर्कलह है जिसका जवाब कमलनाथ,सिंधिया व दिग्विजय को देना चाहिए।

COMMENT