पुरूष प्रधान समाज की चौड़ में इतराने वालों के लिए हार्दिक पांड्या एक सबक हैं!

Views : 3435  |  0 minutes read

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टड (तथाकथित) और फैशन के मामले में विराट कोहली के अंधाधुंध फॉलोवर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल पर इन दिनों शनि की वक्र दृष्टि चल रही है। कहां पांड्या अपने टैलेंट और कूल अंदाज की नुमाइश करने टीवी शो कॉफी विद करण में हंसी-खुशी पहुंचे थे और निकले तो अब खामियाजे के तौर पर उन्हें 2 मैचों में टीम से बाहर बैठने का आदेश मिल गया है।

दरअसल शो में हार्दिक पांड्या और केएल राहुल द्वारा महिलाओं को लेकर सेक्सिस्ट टिप्पणी को बीसीसीआई ने गंभीरता से लिया है। पांड्या के किए गए महिला विरोधी कमेंट्स को लेकर अब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सभी बाहरी कामकाज की देखरेख करने वाली समिति के प्रमुख विनोद राय ने पांड्या और केएल राहुल के खिलाफ दो वनडे मैचों पर बैन लगाने की सिफारिश की है।

राय के सहयोगी डायना एडुल्जी ने हालांकि, इस मामले को बीसीसीआई के लीगल डिपार्टमेंट को भेज दिया है। इससे पहले बीसीसीआई दोनों खिलाड़ियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी कर चुकी है।

गौरतलब है कि फिल्मकार करण जौहर के टीवी शो कॉफी विद करण पर पांड्या ने कई महिलाओं के साथ संबंध बनाने के बारे में दावा किया और यह भी बताया कि वह अपने माता-पिता के साथ इस बारे में खुलकर बात करते हैं।

पांड्या के यह बयान जब सोशल मीडिया पर वायरल हुए तो लोगों ने उन्हें खूब लताड़ा हालांकि सोशल मीडिया पर फजीहत करवाने के बाद पांड्या ने ट्विटर के जरिए सभी से माफी भी मांगी। हार्दिक ने कहा “वह ईमानदारी से अपने किए पर पछतावा कर रहे थे और वो इस व्यवहार को दुबारा नहीं दोहराएंगे”।

लेकिन विनोद राय का कहना है कि “मैं हार्दिक के स्पष्टीकरण से सहमत नहीं हूँ और मैंने दोनों खिलाड़ियों पर दो मैचों का बैन लगाने की सिफारिश की है।

अब डायना एडुल्जी ने कानूनी राय मांगी है कि क्या इस जोड़ी पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। इस पर स्पष्ट होने के बाद ही किसी तरह का निर्णय लिया जाएगा।

इसके अलावा एडुल्जी ने इस मुद्दे पर बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना, कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी से भी राय मांगी है।

आखिर में चाहे पांड्या को सजा मिले या नहीं, ये बीसीसीआई तय करेगी लेकिन एक बात जो साफ तौर पर कही जा सकती है कि पुरूष प्रधान समाज की जिस सोच का उदाहरण पांड्या वर्ल्ड टेलीविजन पर बैठकर दे रहे थे उसे किसी तरह की चौड़ ना मानते हुए इस तथाकथित टैलेंट पर इतराने वाले हर उस इंसान को सबक लेना चाहिए।

COMMENT