महिला विश्व बॉक्सिंग के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय बनी निखत जरीन, सिल्वर मेडल किया पक्का

Views : 628  |  3 minutes read
Nikhat-Zareen-India

भारतीय मुक्केबाज निखत जरीन ने महिला विश्व बॉक्सिंग के फाइनल में जगह बनाकर इतिहास रच दिया है। उन्होंने 52 किलोग्राम भारवर्ग के सेमीफाइनल मैच में ब्राजील की मुक्केबाज कैरोलीन को 5-0 के अंतर से हराया। इससे पहले क्वार्टर फाइनल मैच में भी उन्होंने एकतरफा अंदाज में जीत दर्ज की थी। निखत इस प्रतियोगिता के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज हैं। फाइनल में जगह बनाने के साथ ही उन्होंने कम से कम रजत पदक पक्का कर लिया है। फाइनल मैच में निखत का सामना थाइलैंड की जुतामास जितपोंग के साथ होगा।

Nikhat-Zareen

क्वॉर्टर फाइनल में इंग्लैंड की चार्ली को हराया

25 वर्षीय निखत जरीन ने क्वॉर्टर फाइनल में इंग्लैंड की चार्ली डेविसन को एकतरफा मुकाबले में हराया था। निखत ने चार्ली के खिलाफ 5-0 के अंतर से जीत दर्ज की थी। निखत के अलावा मनीषा ने भारत के लिए इस प्रतियोगिता में दूसरा पदक पक्का कर लिया है। मनीषा ने 57 किलोग्राम भारवर्ग के क्वार्टर फाइनल मैच में मोनखोर को 4-1 से हराया था। इसके बाद सेमीफाइनल मैच में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। इटली की इरमा टेस्टा ने उन्हें पराजित किया है।

63 किलोग्राम भारवर्ग में प्रवीण ने पक्का किया पदक

आपको जानकारी के लिए बता दें कि पुरुषों के 63 किलोग्राम भारवर्ग में भारत के प्रवीण भी कांस्य पदक पक्का कर चुके हैं। प्रवीण को सेमीफाइनल मैच में आयरलैंड के एमी सारा के खिलाफ खेलना है।

चैंपियनशिप में 73 देशों के 310 मुक्केबाज ले रहे हैं हिस्सा

गौरतलब है कि तुर्की के इस्तांबुल शहर में इस बार 12वीं आईबीए महिला विश्न मुक्केबाजी चैंपियनशिप का आयोजन हो रहा है। इसमें 73 देशों के कुल 310 मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं। भारत, कजाकिस्तान, तुर्की और यूक्रेन से सर्वाधिक 12-12 मुक्केबाज यहां पहुंचे हैं।

Read Also: स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को​ मिली इंग्लैंड टेस्ट टीम की कमान

COMMENT