राजस्थान में 31 मई के बाद भी जारी रहेगा रात्रिकालीन कर्फ्यू, सीएम ने दिए ये निर्देश

Views : 775  |  3 minutes read

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना संक्रमण के खतरे को कम से कम करने के लिए 31 मई के बाद भी प्रदेशभर में रात्रिकालीन कर्फ्यू जारी रखा जाए और इसमें किसी तरह की शिथिलता भी नहीं हो। गहलोत ने मुख्यमंत्री निवास पर कोरोना संक्रमण को लेकर आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में समीक्षा की थी और अ​धिकारियों को निर्देश दिए।

हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना सख्ती से हो- गहलोत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना सख्ती से हो और इसमें कोई भी अपना अहम आडे़ नहीं आने दे चाहे वह वीआईपी ही क्यों न हो। मुख्यमंत्री ने अपील की है कि सभी प्रदेशवासी बार-बार हाथ धोते रहें और मास्क पहनें व सामाजिक दूरी के नियम की पूरी पालना करें।

Read More: कोरोना इफेक्ट : देश में बंद हो सकती हैं 7 लाख से ज्यादा ऐसी छोटी दुकानें

” पैनल्टी एवं जुर्माने के प्रावधानों में किसी तरह की शिथिलता नहीं बरती जाए ”

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बैठक में यह भी कहा कि प्रशासन हैल्थ प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना के लिए कैमरों सहित अन्य माध्यमों से प्रभावी निगरानी करें। राजस्थान महामारी अध्यादेश के तहत लागू पैनल्टी एवं जुर्माने के प्रावधानों में किसी तरह की शिथिलता नहीं बरती जाए क्यों कि यह लोगों के जीवन की रक्षा एवं जनस्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना करके ही कोरोना की जंग जीती जा सकती है। बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा, मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, अति. मुख्य सचिव गृह राजीव स्वरूप, अति. मुख्य सचिव उद्योग सुबोध अग्रवाल, अति. मुख्य सचिव सार्वजनिक निर्माण श्रीमती वीनू गुप्ता, अति. मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, सूचना एवं जनसम्पर्क आयुक्त महेन्द्र सोनी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8414 तक पहुंची

राजस्थान में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। आंकड़ों के अनुसार राजस्थान में अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8414 तक जा पहुंची है और अब तक कुल 185 लोगों की मौत हो हई है। हालांकि कुल 5290 मरीज ठीक हो चुके है और एक्टिव केसों की संख्या 2939 रह गई है।

COMMENT