राज्यसभा में सदन के उपनेता होंगे मुख्तार अब्बास नकवी, पीयूष गोयल की लेंगे जगह

Views : 2069  |  3 minutes read
Mukhtar-Abbas-Naqvi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र की एनडीए सरकार की ओर से राजनीतिक और संवैधानिक पदों पर फेरबदल जारी है। अभी हाल ही में केंद्र सरकार ने अपने इस कार्यकाल में मंत्रिमंडल में विस्तार और भारी फेरबदल किया था। इसके अलावा कई राज्यों के राज्यपाल भी बदले गए। इसी बीच अब एक और नए बड़े फेरबदल की खबर सामने आ रही है। जानकारी के अनुसार, केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री और भाजपा सांसद मुख्तार अब्बास नकवी को जल्द ही राज्यसभा में सदन के उपनेता पद पर नियुक्त जा रहा है। साल 2016 से नकवी झारखंड से भाजपा के राज्यसभा सांसद हैं।

अभी तक सदन के उपनेता थे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

मालूम हो कि अभी तक केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल राज्यसभा में सदन के उपनेता थे। लेकिन सीट खाली होने की वजह से गोयल को अब राज्यसभा में सदन का नेता बनाया गया है, इसके बाद उपनेता की सीट खाली हो गई है। माना जाता है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता नकवी संसदीय मामलों पर अपनी अच्छी पकड़ रखते हैं। साथ ही वह विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ अच्छे संबंध एवं समन्वय के लिए भी जाने जाते हैं।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से पहले केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत राज्यसभा में सदन नेता थे। हालांकि, पिछले दिनों 7 जुलाई को मंत्रिपरिषद विस्तार से ठीक पहले उन्हें कर्नाटक राज्य का राज्यपाल नियुक्त कर दिया गया। इसके बाद यह सीट खाली हो गई थी।

वाजपेयी सरकार में भी केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं नकवी

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में भी केंद्रीय मंत्री बनाए गए थे। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में जन्मे 63 वर्षीय नकवी 17 साल की उम्र में वर्ष 1975 में इमरजेंसी के दौरान अपनी राजनीतिक गतिविधियों में शामिल होने की वजह से जेल गए थे। साल 2019 में वह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में लगातार दूसरी बार अल्पसंख्यक कार्य मंत्री बनाए गए।

Read Also: फोन टैपिंग को लेकर सरकार के नियम बेहद सख्त, जासूसी के आरोप गलत: मंत्री वैष्णव

COMMENT