चर्चा में आमों की मल्लिका ‘नूरजहां’, एक आम की कीमत 1200 रुपए, जानिए इस खास की कहानी

Views : 6683  |  0 minutes read

आम को फलों का राजा कहा जाता है और गर्मियों में आम लगभग हर फल विक्रेता के पास होता है। आम अपने मिठास के लिए तो जाना जाता है, साथ ही अनके किस्मों और उनके आकारों के लिए भी चर्चा में रहता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं ‘नूरजहां’ आम की, जो इन दिनों खास चर्चा में है। इसके चर्चित होने का कारण इसके दाम हैं, एक आम की कीमत हजार-बारह सौ रुपए तक होती है। आमों की इस किस्म की उपज मध्यप्रदेश के अलिराजपुर जिले में होती है। इस आम को ‘आमों की मल्लिका’ भी कहा जाता है।

तो आइए जानते हैं आखिर क्या खूबी है इस आम में, जो यह इतने महंगे दामों में बिक रहा है।

नूरजहां आम के महंगे दामों में बिकने की खास वजह इसका बड़ा आकार और वजन है। एक आम का वजन कम से करीब दो किलो से लेकर 3 किलो तक होता है। कई बार इस आम की लम्बाई 1-2 फुट और वजन 4 किलोग्राम तक भी हो जाता है।

नूरजहां आम की इस बार अच्छी पैदावार हुई है, जिससे किसान व खरीददार भी बेहद खुश हैं। इसके प्रति लोगों में ऐसी दीवनगी है कि वे लोग इसके लिए कोई भी कीमत देने को तैयार हैं। इन दिनों एक-एक नूरजहां आम 700-800 रुपए में बिक रहा है और सबसे ज्यादा वजन वाले आम के लिए 1200 रुपए तक चुकाये जा रहे हैं। हालांकि मिठास में यह आम हापुस के मुकाबले कमजोर है, परंतु वजन, आकार और ज्यादा गूदा होने के कारण से यह सबको पसंद आता है। अलिराजपुर में इस आम की खेती तीन-चार अलग-अलग किसान करते हैं। सभी अपने को नूरजहां की किस्म के लिए अवॉर्ड विजेता घोषित भी करते हैं।

नूरजहां आम की सीमित पैदावार के कारण फल भी सीमित होते हैं। इसके फल के शौकीन लोग उसी दौरान उसकी अग्रिम बुकिंग करवा लेते है जिस समय पर यह सारे फल पेड़ की डाल पर पक रहे होते है।

अफगानी प्रजाति का है नूरजहां आम

अफगानी मूल की मानी जाने वाली इस दुर्लभ नूरजहां आम की प्रजाति केे कुछ गिने—चुने पेड़ ही भारत में है। नूरजहां के पेड़ मध्य प्रदेश के अलीराजपुर जिले के कट्ठीवाड़ा क्षेत्र में पाए जाते हैं। इस आम की लंबाई करीब एक फीट तक हो सकती है और वजन में यह दो किलो से भी ज्यादा का हो सकता है। इस आम की गुठली का वजन 150 से 200 ग्राम के बीच में होता है।

COMMENT