15 अगस्त को आजादी का जश्न मनाने वाला भारत अकेला नहीं, ये देश भी इसी दिन हुए आजाद

Views : 2567  |  3 minutes read
15-August-Independence-Day

ब्रिटिश हुकूमत ने दुनिया भर के अनेकों देशों को अपना गुलाम बनाया था, उनमें से भारत भी एक था। हमारे देश पर अंग्रेजों का शासन करीब 200 साल तक रहा। इस दौरान ब्रिटिश शासन ने भारतीय जनता का जमकर शोषण किया था। अंग्रेजों से भारत को आजाद कराने के लिए देश के अनेकों वीर सपूतों ने अपना बलिदान दिया और 15 अगस्त, 1947 को देश को ब्रिटिश शासन से आजादी मिलीं।

देश को स्वतंत्र हुए 73 साल हो गए हैं और हम 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। 15 अगस्त हमारे लिए आजादी के जश्न का दिन है, साथ ही दुनिया के कई और भी देश हैं जो हमारे साथ आजाद हुए थे। जी हां, दुनिया में 5 देश ऐसे हैं जो आज ही के दिन आजाद हुए..

ये देश मनाते हैं 15 अगस्त अपनी आजादी का जश्न

हम सभी जानते हैं कि 15 अगस्त को भारत एक आजाद देश बना। अब तक भारत समेत दुनिया के पांच देश इसी दिन आजाद हुए हैं, उनमें उत्तर कोरिया, दक्षिण कोरिया, कांगो गणराज्य, बहरीन और लिस्टेंस्टीन शामिल हैं। ये सभी देश भी हमारे साथ ही अपनी आजादी का जश्न मनाते हैं।

जहां भारत पर ब्रिटेन का शासन था, वहीं एशियाई देश उत्तर कोरिया व दक्षिण कोरिया को जापान ने अपने अधिकार में ले रखा था, जिसे 15 अगस्त, 1945 को आजाद किया था। जापान ने यह फैसला तब लिया जब उसके उपर अमेरिका ने परमाणु हमला किया था।

वहीं, एशियाई देश बहरीन पर ब्रिटेन का ही शासन था, ब्रिटिश फौजें 1960 से ही बहरीन को छोड़ने लगी थी, लेकिन इस देश को पूर्ण आजादी भारत के बाद 15 अगस्त, 1971 को मिली। हालांकि, यह बहरीन अपना नेशनल हॉलीडे 16 दिसंबर को मनाता है। इस दिन यहां के शासक इसा बिन सलमान अल खलीफा बहरीन की गद्दी पर बैठा था।

कांगो अफ्रीका का देश है और इस पर फ्रांसीसी सरकार ने कब्जा कर रखा था। फ्रांस ने कांगो को 15 अगस्त 1960 को मुक्त कर दिया। लिस्टेंस्टीन नामक देश पर जर्मनी का अधिकार था, जिसे उसने 15 अगस्त, 1866 को आजाद किया। ये सभी देश अपनी आजादी का जश्न 15अगस्त को मनाते हैं।

इंडियन आर्मी-डे: ​जानिए आज ही के दिन क्यों मनाया जाता है सेना दिवस?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अंग्रेज यानी ब्रिटिश शासक पहले भारत को वर्ष 1947 के बजाय, साल 1948 में आजाद करना चाहत थे, लेकिन देश में लगातार बढ़ते अंग्रेजी शासकों के विरोध के कारण उन्हें भारत को 1 साल पहले ही यानी 15 अगस्‍त, 1947 को आजाद करना पड़ा।

COMMENT