विश्व कप : 5 जून को इंडिया Vs दक्षिण अफ्रीका मुकाबले में कौन पड़ेगा भारी, जानें क्या कहता है रिकॉर्ड?

Views : 2460  |  0 minutes read
chaltapurza.com

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड की मेजबानी में आयोजित हो रहे आईसीसी क्रिकेट विश्व कप-2019 में टीम इंडिया को छोड़कर सभी टीमें अपने अभियान की शुरुआत कर चुकी है। टीम इंडिया विश्व कप में अपना पहला मुकाबला 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के साथ खेलेगी। यह मुकाबला साउथैम्पटन के ‘द रोज बाउल’ स्टेडियम में खेला जाएगा। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच इस स्टेडियम में खेले जाना वाला यह पहला मैच होगा। ऐसे में आइए जानते हैं विश्व कप में दोनों टीमों के बीच बुधवार को होने वाले मुकाबले से पहले अब तक खेले गए विश्व कप मैचों का रिपोर्ट कार्ड और इस मैदान पर दोनों टीमों का का क्या रहा है रिकॉर्ड..

chaltapurza.com

साउथैम्पटन में दोनों टीम ने खेले 3-3 मुकाबले

इंग्लैंड के साउथैम्पटन स्थित ‘द रोज बाउल’ स्टेडियम में अब तक टीम इंडिया ने तीन मुकाबले खेले हैं। वहीं, दक्षिण अफ्रीका भी यहां अब तक 3 मैच खेल चुकी है। भारतीय टीम ने अपने तीन में से 2 मुकाबले गंवाए हैं और एक मैच में उसे जीत हासिल हुई। इस स्टेडियम में भारत को केन्या के खिलाफ 11 सितम्बर, 2004 में एक मात्र जीत नसीब हुई थी, जबकि उसके बाद खेले गए दोनों मैच उसने गंवाए हैं। भारत ने ये दोनों मैच मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ 2007 और 2011 में खेले थे।

दूसरी ओर, दक्षिण अफ्रीका की टीम ने भी यहां अब तक 3 एकदिवसीय मुकाबले खेले हैं। हालांकि दक्षिण अफ्रीकी टीम का प्रदर्शन यहां भारत की अपेक्षा अच्छा रहा है। उसने 2003 में जिम्बाब्वे और 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ जीत दर्ज की थी। तीसरे मैच में उसे मेजबान इंग्लैंड से हाथों 2017 में हार का सामना करना पड़ा था। इस स्टेडियम में अब दोनों टीमें अपना चौथा मुकाबला खेलेंगी। यह देखना बड़ा दिलचस्प होगा कि पहली बार साउथैम्पटन के ‘द रोज बाउल’ में भिड़ने वाली दोनों टीमों में से कौन जीत हासिल करता है।

chaltapurza.com

स्टेडियम में पहली बार होगा विश्व कप मुकाबला

साउथैम्पटन के इस द रोज बाउल स्टेडियम की स्थापना वर्ष 2001 में हुई थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह इंग्लिश काउंटी क्रिकेट क्लब हैंपशायर का घरेलू मैदान है। यह नया ग्राउंड है जहां पहली बार कोई विश्व कप मैच खेला जाएगा। इससे पहले यहां अब तक कोई भी विश्व कप मुकाबला इस मैदान में नहीं खेला गया है, लेकिन इस बार यहां कुल 5 मैच होंगे। इस स्टेडियम में कुल 92,542 दर्शकों के एक साथ बैठने की व्यवस्था है। टीम इंडिया अपने दो मुकाबले इसी स्टेडियम में खेलेगी। पहला मुकाबला 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के साथ होगा, जबकि दूसरा मैच 22 जून को अफगानिस्तान के साथ खेला जाएगा।

chaltapurza.com

बैटिंग के लिए अनुकूल माना जाता है मैदान को

द रोज बाउल स्टेडियम के विकेट को बैटिंग के अनुकूल माना जाता है। 2017 से अब तक यहां सबसे कम स्कोर 288 रन रहा है, जबकि ओवरऑल सर्वश्रेष्ठ टीम स्कोर 3 विकेट के नुकसान पर 373 रन हैं। यह स्कोर इंग्लैंड ने पिछले महीने 11 मई को पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मुकाबले में बनाया था। पाक टीम ने बड़े लक्ष्य का पीछे करते हुए जवाब में 7 विकेट पर 361 रन का स्कोर किया था। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि जो भी टीम पहले बैटिंग करेगी, उसकी कोशिश होगी कि वह कम से कम 350 से अधिक का स्कोर खड़ा करे।

chaltapurza.com
विश्व कप में अब तक चार बार भिड़ी हैं दोनों टीमें

विश्व कप मुकाबलों की बात की जाए तो दोनों टीमें अब तक चार बार आमने-सामने हुई है। चार मैचों में दक्षिण अफ्रीका ने तीन और भारत ने एक मुकाबला जीता है। विश्व कप में दक्षिण अफ्रीकी टीम टीम इंडिया पर हमेशा से भारी रही। लेकिन इस बार उसकी राह बिल्कुल भी आसान नहीं होगी। इस समय दक्षिण अफ्रीका के तीन खिलाड़ी चोट की समस्या से जूझ रहे हैं। यह भी संभव है कि वे भारत के ख़िलाफ़ होने वाले मुकाबले में नहीं खेल पाए। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लुंगी गिडी चोट के कारण भारत के साथ होने वाले मुकाबले में नहीं खेल पाएंगे। उनकी जगह डेल स्टेन को टीम में रखा जा सकता है लेकिन उनका भी फिट होना बाकी है।

Read More: दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बने नरेन्द्र मोदी ने अपने नाम किए कई ग़ज़ब रिकॉर्ड

वहीं सीनियर बल्लेबाज हाशिम अमला अब पहले से बेहतर हैं जिन्हें इंग्लैंड के खिलाफ मैच में जोफ्रा आर्चर की गेंद हेलमेट पर लगी थी। ऐसे में 5 जून को होने वाले मुकाबले में अंतिम एकादश में कौन खेल खेलेगा यह तभी पता चल पाएगा। विराट कोहली की कप्तान वाली टीम इंडिया जहां इस टूर्नामेंट में पहली बार मैदान में उतरेगी। वहीं, फाफ डु प्लेसिस की कप्तानी में दक्षिण अफ्रीकी टीम अपना तीसरा मुकाबला खेलेगी। अब तक खेले गए दो मैचों में उसे मेजबान इंग्लैंड और बांग्लादेश के हाथों हार का सामना करना पड़ा है। टीम इंडिया के सामने दक्षिण अफ्रीका अंडर प्रेशर में खेलेगी। इसका फायदा भारतीय टीम को मिलेगा।

 

COMMENT