दूसरी लहर से भी ज्यादा भयावह हो सकती है कोरोना की थर्ड वेव, गृह मंत्रालय ने राज्यों को अलर्ट किया

Views : 923  |  3 minutes read
Home-Ministry-Alerts-States

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर में अब संक्रमण मामलों की संख्या में कमी आने के बाद ज्यादातर राज्यों ने कोरोना कर्फ्यू की पाबंदियां नियमों के साथ हटा ली हैं। कई राज्यों में बाजार, शॉपिंग मॉल, रेस्टोरेंट समेत मेट्रो और अन्य परिवहन व्यवस्थाओं को फिर से शुरू करने के लिए गाइडलाइन जारी की जा चुकी है। लेकिन अचानक दी गई इस छूट के बाद पूरे सभी राज्यों में जो माहौल है, उससे केंद्रीय गृह मंत्रालय की चिंता बढ़ गई है।

गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के बीच बुधवार को हुई बैठक में इसे लेकर चर्चा हुई। उसके बाद देशभर के सभी राज्यों को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से निर्देश जारी किए गए कि छूट तो मिली है, लेकिन कोविड प्रोटोकॉल का पूरा पालन होना चाहिए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बैठक में बताया कि अगर हालात लापरवाही भरे रहे तो तीसरी लहर बहुत भयावह हो सकती है।

गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को दिए निर्देश

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्रालय को इस बात की आशंका हुई कि जिस तरीके से अचानक सड़कों पर भीड़ बढ़नी शुरू हुई उससे काबू में आ रहे कोरोना के मामलों पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने इस बात की चिंता स्वास्थ्य मंत्रालय और देश के अन्य राज्यों के मुख्य सचिव के साथ भी साझा की। गृह मंत्रालय ने स्वास्थ्य मंत्रालय समेत देश के सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को निर्देश दिए हैं कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन ना करने पर सख्ती बरती जाए। खासकर जो लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं और मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं।

प्रोटॉकाल का पालन नहीं तो बहुत ज्यादा बिगड़ सकते हैं हालात

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, आईसीएमआर और कोरोना पर रखने वाली सरकारी संस्थाओं ने पहले ही आगाह किया है कि अगर हम लोग छूट के साथ कोविड प्रोटॉकाल का पालन नहीं करेंगे तो हालात बहुत ज्यादा बिगड़ सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि अभी तक हमारे देश में महज पांच फीसदी से भी कम लोगों को ही पूरी तरह से टीका लगा है। क्योंकि इस कोरोना महामारी में टीका ही एकमात्र उपाय है। अधिकारियों ने कहा कि अभी देश में बहुत बड़े स्तर पर कोरोना टीकाकरण चल रहा है, लेकिन इसका प्रतिशत बहुत कम है। ऐसे में सड़कों पर निकली भीड़ तीसरी लहर को बुलाने का काम रही है।

भारत में कोरोना वैक्सीन से अब तक हुई सिर्फ एक मौत, मौतों की जांच कर रही समिति ने किया खुलासा

COMMENT