गोविंदा को विरासत में मिला अभिनय का हुनर, डांसिंग स्टाइल के आज भी हैं लाखों दीवाने

Views : 3527  |  4 minutes read
Actor-Govinda-Biography

बॉलीवुड में अपनी ख़ास डांसिंग स्टाइल के लिए पहचान रखने वाले सीनियर एक्टर गोविंदा आज अपना अपना 57वां जन्मदिन मना रहे हैं। गोविंदा ने हिंदी सिनेमा में अपनी डांसिग स्टाइल के जरिए दर्शकों के दिल में ख़ास पहचान बनाईं। उन्होंने बॉलीवुड की करीब 200 फिल्मों में अभिनय किया है। यही नहीं वर्ष 2004 में उन्होंने कांग्रेस पार्टी जॉइन की और इसी पार्टी के टिकट पर मुंबई नॉर्थ से लोकसभा सांसद चुने गए। गोविंदा को प्यार से ‘ची ची’ नाम से भी बुलाया जाता है। ऐसे में इस मौके पर जानते हैं उनकी ज़िंदगी के बारे में ख़ास बातें..

फिल्मी परिवार में हुआ था एक्टर का जन्म

अभिनेता गोविंदा का जन्म 21 दिसंबर, 1963 को महाराष्ट्र के मुंबई शहर में हुआ था। उनके पिता निर्देशक व अभिनेता अरुण कुमार आहूजा और माता सिंगर-अभिनेत्री निर्मला देवी थे। उनका पूरा नाम गोविंद अरुण आहूजा है। उनके पिता देश के विभाजन से पहले गुजरांवाला (पाकिस्तान) को छोड़कर मुंबई आकर बस गए थे। उनके पिता को महबूब खान की फिल्म ‘औरत’ (1940) में अभिनय के लिए भी जाना जाता है।

गोविंदा अपने छह भाई-बहनों में सबसे छोटे हैं। उन्होंने अन्नासाहेब वर्तक कॉलेज, वसई से कॉमर्स से स्नातक की पढ़ाई की। फिल्मी जगत में रहे उनके पिता ने उन्हें ​बॉलीवुड में ही कॅरियर बनाने की सलाह दी थी। गोविंदा ने वर्ष 1987 में सुनीता मुंजाल से शादी की। इन दोनों के दो बच्चे, बेटी नर्मदा और बेटा यशवर्धन आहूजा हैं।

बॉलीवुड में फिल्म ‘इल्‍जाम’ से शुरू हुआ कॅरियर

गोविंदा को अभिनय का हुनर विरासत में मिला, क्योंकि उनके माता-पिता दोनों ही बॉलीवुड में काम किया करते थे। इसलिए भी उन्होंने अपना कॅरियर फिल्मों में ही बनाया। उनके कॅरियर की पहली फिल्म वर्ष 1986 में रिलीज हुई ‘इल्‍जाम’ थी, जो बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई। इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में करीब 200 फिल्मों में अभिनय किया। गोविंदा ने फिल्म ‘शोला और शबनम’ में एक युवा एनसीसी कैडेट की भूमिका निभाई, जो काफी उग्र थी। उन्हें बीबीसी न्यूज के ऑनलाइन पोल जून, 1999 में 10वां श्रेष्ठ एक्टर चुना गया था।

गोविंदा ने 1980 के दशक में पारिवारिक, नाटकीय और भावुक भूमिका वाली फिल्मों में अभिनय किया। वहीं, उन्होंने 90 के दशक में ‘जान से प्यार'(1992), ‘खुद्दार'(1994), ‘आंखें'(1993), ‘राजा बाबू'(1994), ‘दीवाना मस्ताना'(1997), ‘आंदोलन’, ‘कुली नंबर-1′(1995), ‘हीरो नंबर-1′(1997), ‘दुल्हे राजा'( 1998) और ‘बडे मियां छोटे मियां'(1998) जैसी फिल्में कीं। उन्होंने निर्देशक डेविड धवन के साथ कई सफल फिल्में दी हैं। डेविड-गोविंदा की जोड़ी फिल्म की सफलता की गारंटी थी। अभिनेता ने शक्ति कपूर के साथ 42 फिल्में की हैं।

Read More: एक्टिंग से परे पायलट बनकर हवाई जहाज उड़ाना चाहते थे सोहेल खान

कॅरियर में कई अवॉर्ड्स किए अपने नाम

अभिनेता गोविंदा को बॉलीवुड फिल्मों में उनकी दमदार एक्टिंग के लिए कई अवॉर्ड प्राप्त हुए। वह चार बार ‘जी सिने अवॉर्ड’, ‘एक बार फिल्‍मफेयर स्‍पेशल अवॉर्ड’ और एक बार ‘फिल्‍मफेयर बेस्‍ट कॉमेडियन’ के अवॉर्ड से नवाजे जा चुके हैं। गोविंदा आखिर बार पिछले साल फिल्म ‘रंगीला राजा’ में नज़र आए थे।

COMMENT