विश्व पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है, इस थीम पर इस बार होगा फोकस

Views : 5531  |  0 minutes read

पूरी दुनिया में पर्यावरण को लेकर जागरूकता लाने के लिए हर वर्ष 5 जून को विश्‍व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। प्रत्येक वर्ष मनाए जाने वाले विश्व पर्यावरण दिवस के लिए एक थीम रखी जाती है, जिसके माध्यम से किसी खास पर्यावरणीय समस्या पर लोगों का ध्यान केंद्रित किया जाता है। इस वर्ष की थीम ‘वायु प्रदूषण’ रखी गई है। इस वर्ष चीन में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाएगा।

कब से मनाया जा रहा है

बढ़ते पर्यावरण असंतुलन की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए पहली बार वर्ष 1972 में दुनिया के देशों के बीच विश्व पर्यावरण दिवस मनाने के लिए सहमति बनी। इस दिवस को मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा की गई। इसका उदृेश्य खराब पर्यावरणीय परिस्थितियों और उसके बढ़ते दुष्प्रभाव के प्रति लोगों में जागरूकता लाना था। विश्व पर्यावरण दिवस को मनाने की विधिवत शुरुआत 5 जून, 1974 को हुई थी। इस वर्ष हुए सम्मेलन की मेजबानी अमेरिका ने की थी और इसकी थीम ‘एक पृथ्वी’ थी।

हर साल पर्यावरण दिवस के लिये एक खास विषय चुना जाता है और उस पर परिचर्चाएं, गोष्ठियां, मेले, प्रतियोगिताएं आदि का आयोजन किया जाता है।

वर्ष 2018 में रखी थी ‘बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन’ थीम

पिछले वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस पर बढ़ते प्लास्टिक की समस्या को देखते हुए, इसकी थीम- ‘बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन’ रखी गई। जिसका उद्देश्य प्लास्टिक से होने वाले प्रदूषण को खत्म करने के लिए लिए लोगों में जागरूकता लाई जा सके। इस वर्ष के विश्व पर्यावरण दिवस की मेजबानी भारत ने की।

उद्देश्य

विश्व पर्यावरण दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता पैदा करते हुए उनमें राजनीतिक चेतना पैदा करना और पर्यावरण की रक्षा के लिए उन्हें प्रेरित करना है।

मानव सभ्यता का टिकाऊ और समतापूर्ण विकास करते हुए लोगों को कर्ता धर्ता बनाना और इसके लिये उनके हाथ में असली सत्ता सौंपना।

इस धारणा को बढ़ावा देना कि पर्यावरणीय समस्याओं के प्रति लोक-अभिरुचियों को बदलने में समुदाय की भूमिका महत्त्वपूर्ण होती है।

विभिन्न देशों, उद्योगों, संस्थाओं और व्यक्तियों की साझेदारी को बढ़ावा देना ताकि सभी देश और समुदाय एवं सभी पीढ़ियाँ सुरक्षित एवं उत्पादनशील पर्यावरण का आनंद उठा सकें।

COMMENT