विशेष: अपने पिता कॉमेडी किंग महमूद को ही नहीं पहचान पाए थे सिंगर लकी अली

Views : 2651  |  0 minutes read
Singer-Lucky-Ali

सिंगर-लिरिसिस्ट, कंपोजर, म्यूजिक डायरेक्टर और एक्टर लकी अली आज अपना 61वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। उनका जन्म 19 सितंबर, 1958 को महाराष्ट्र के मुंबई शहर में हुआ था। उनका असल नाम मक़सूद अली है। उनके पिता महमूद अली 1960-70 के दशक के बॉलीवुड के मशहूर कॉमेडी किंग थे। लकी अपने पिता की तरह शोहरत की बुलंदियों को तो नहीं छू पाए, लेकिन उनके कई गाने आज भी लोगों के दिल में हैं। 90 के दशक में लकी के कई गाने हिट साबित हुए थे। उस दौर का हर म्यूजिक लवर उनके गानों का दीवाना था। आज लकी अली के जन्मदिन के अवसर पर जानते हैं उनकी अब तक की ज़िंदग़ी के बारे में दिलचस्प बातें..

Singer-Lucky-Ali

देश के कई मशहूर स्कूलों में की पढ़ाई

लकी अली अपने पिता की आठ संतानों में दूसरे नंबर के थे। उनकी मां माहेलका बंगाली-पश्तून थी जो 1960 के दशक की बॉलीवुड एक्ट्रेस मीना कुमारी की बहन थी। लकी अली ने अपनी स्कूलिंग मानेकजी कूपर स्कूल, बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल मुंबई और बिशप कॉटन बॉयज स्कूल, बेंगलुरु से की थी। उन्होंने सेंट जॉर्ज कॉलेज, मैसूरी से स्नातक किया था। महमूद अली के बेटे लकी अली का अपने पिता के साथ काफी द्वंद था और दोनों के बीच रिश्ते सामान्य नहीं थे।

महमूद अली अपने समय में बेहद बिजी एक्टर थे और वे अक्सर शूटिंग के चलते अपने घर से दूर रहा करते थे। एक बार 10 महीने एक बोर्डिंग स्कूल में बिताने के बाद जब 4-5 साल के लकी अली अपने पिता से मिले थे तो वो उन्हें पहचान नहीं पाए थे। लकी ने उन्हें देखकर कहा था कि ये तो फिल्म कॉमेडियन महमूद है।

Singer-Lucky-Ali

पिता की डार्क फिल्म में काम करने से मना किया

लकी अली कुछ समय तक नशे की लत में पड़ गए थे। इस पर उनके पिता महमूद ने फिल्म ‘दुश्मन दुनिया का’ लिखी थी। इस फिल्म में अली की ना के बाद उनके छोटे भाई मंजूर ने काम किया था। ये कहानी लकी नाम के शख्स की थी जो ड्रग्स की लत के चलते अपनी मां को मार देता है और फिर उसके पिता उसकी हत्या कर देते हैं। अपने पिता की इस डार्क फिल्म को करने से लकी ने मना कर दिया था। हालांकि उन्होंने इस फिल्म में अपना पहला गाना ‘नशा नशा’ गाया था।

Singer-Lucky-Ali

बहुत कम उम्र में शुरु कर दी थी प्लेबैक सिंगिंग

लकी अली के प्लेबैक सिंगिंग कॅरियर की शुरुआत वर्ष 1978 में हो गई थी। 20 वर्ष की उम्र में लकी ने फिल्म ‘एक बाप छह बेटे’ के गाने ‘वॉकिंग ऑल अलोन’ से अपने प्लेबैक सिंगिंग कॅरियर की शुरुआत की थी। लकी का पहला एलबम साल 1996 में आया ‘सुनो’ था जिसने उन्हें बतौर सिंगर स्थापित किया। इस एलबम का गाना ‘ओ सनम’ बहुत हिट रहा। इसी गाने में उनकी पहली पत्नी और न्यूजीलैंड की मॉडल मेगन जेन मैकलरी ने एक्टिंग की थी। पहले एलबम के हिट साबित होने के बाद उनकी ‘सिफर’, ‘अक्स’, ‘कभी ऐसा लगता है’ जैसी कई एलबम आई। ये सभी एलबम भी हिट साबित हुईं। लकी अली की इस एलबम के तीन गाने ‘तेरी यादें आती हैं’, ‘देखा है ऐसे भी’ और ‘नहीं रखता दिल में’ चार्टबस्टर बन गए।

इसके बाद लकी अली ने बॉलीवुड की कई फिल्मों के लिए भी अपनी आवाज दी। फिल्म ‘कहो ना प्यार है’ का गाना ‘ना तुम जानो ना हम’ लकी ने ही गाया था। इस गाने के लिए लकी को साल 2001 में फिल्मफेयर अवॉर्ड फॉर बेस्ट मेल सिंगर से नवाज़ा गया। इसी फ़िल्म के गाने ‘इक पल का जीना’ ने लोगों का दिल जीतने का काम किया। इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों के लिए गाने गाए लेकिन ज्यादा कामयाबी नहीं मिलीं। अपने पॉप कल्चर से बॉलीवुड को एक दौर में मात देने वाले लकी अली दौलत-शोहरत की चाह से हमेशा से ही दूर रहे, अपने हिसाब से काम किया और मधुर आवाज होने के बावजूद मेनस्ट्रीम की जगह ख़ानाबदोश वैरागी की तरह जीवन जिया।

चार साल की उम्र में किया था चाइल्ड ​आर्टिस्ट के रूप में डेब्यू

लकी अली को एक्टिंग बचपन से ही बहुत पसंद थी। उन्होंने बहुत कम उम्र में फिल्म ‘छोटे नवाब’ (1962) से एक्टिंग में डेब्यू किया था। इस फिल्म का निर्देशन उनके पिता महमूद ने ही किया था। इसके बाद उन्होंने बाल आर्टिस्ट के रूप में 70-80 के दशक में कई फिल्मों में काम किया, जिसमें ‘ये है ज़िंदग़ी’, ‘हमारे तुम्हारे’ और श्याम बेनेगल की फिल्म ‘त्रिकाल’ में काम किया। इसके अलावा उन्होंने टेलीविजन सीरीज ‘भारत एक ख़ोज’ में भी काम किया।

Singer-Lucky-Ali

बाद में लकी अली के म्यूजिक वीडियोज की लोकप्रियता को देखकर उन्हें कुछ बॉलीवुड फिल्में भी ऑफर हुई थी। बतौर एक्टर लकी की पहली फिल्म साल 2002 में संजय गुप्ता की ‘कांटे’ थी। इसके बाद उन्होंने वर्ष 2003 में एक म्यूजिकल फिल्म ‘सुर: द मेलॉडी ऑफ लाइफ’ में लीड रोल प्ले किया था। इस फिल्म में लकी अली के गाए गाने ‘आ भी जा आ भी जा’ और ‘जाने क्या ढूंढता है मेरा दिल’ काफ़ी हिट हुए थे।

Read More: युवराज की वजह से हुआ था आकाश चोपड़ा का कॅरियर खत्म

5 बेटे-बेटियों के पिता लकी अली कर चुके हैं तीन शादी

लकी अली ने तीन शादी की हैं, जिनसे उन्हें पांच संतानें हैं। उन्होंने पहली शादी न्यूजीलैंड की मॉडल मेगन जेन मैकलरी से की थी। इन दोनों की मुलाकात ‘सुनो’ एलबम की वीडियो शूटिंग के दौरान हुई थी। इन दोनों के दो बच्चे हैं। लकी ने दूसरी शादी एक फारसी महिला इनाया से की थी। इनाया और लकी के भी दो बच्चे हुए। कुल साल साथ रहने के बाद इन दोनों का भी तलाक़ हो गया।

Singer-Lucky-Ali

इनाया से तलाक के बाद लकी ने साल 2010 में 52 साल की उम्र में ब्रिटिश मॉडल व गिटारिस्ट केट एलिजाबेथ से शादी की। इन दोनों का एक बेटा डैनी मकसूद अली है। लकी से शादी के बाद केट ने अपना नाम बदलकर आयशा अली रख लिया। लकी और आयशा के बीच उम्र में 25 साल का फासला है। लकी अली हॉर्स बिजनेस, ऑर्गेनिक फार्मिग और कार्पेट बेचने जैसे काम भी कर चुके हैं। अब वे कई सालों से फिल्मों से दूर हैं और कभी-कभी स्टेज शो करते हैं।

COMMENT