अशोक गहलोत या सचिन पायलट : कौन होगा कांग्रेस का मुख्यमंत्री चेहरा

Views : 2653  |  0 minutes read

राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा ने जहां अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है वहीं कांग्रेस में मंथन का दौर खत्म हो चुका है और आज किसी भी समय वो अपनी पहली लिस्ट जारी कर सकती है। कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों पर जहां हर किसी की नजरें लगी हुई है वहीं कांग्रेस से मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा इसकी चर्चाएं भी सूबे में जोर पकड़ रही है।

काफी दिनों से सचिन पायलट और अशोक गहलोत के नाम को लेकर कयास जारी है। इन दोनों नाम में किस चेहरे को मुख्यमंत्री के लिए चुना जाता है ये तय होगा जोधपुर जिले की विधानसभा सीट से। जी हां, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 1998 से इस सीट से चुनाव में उतरते आएं हैं। इस बार के चुनावों में भी यह माना जा रहा है कि कांग्रेस जोधपुर सीट से जिसका नाम घोषित करेगी वो ही सीएम उम्मीदवार होगा।

जोधपुर सीट है काफी अहम-

प्रदेश से कांग्रेस के दो बड़े नेता सीएम के लिए अपनी दावेदारी आलाकमान के सामने पेश कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस की लिस्ट में अब जोधपुर सीट को काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि इस सीट से जो उम्मीदवार तय होगा वो सीएम के लिए काफी मजबूत माना जाएगा।

पायलट और गहलोत की अपनी-अपनी लोकप्रियता-

राजस्थान के राजनीतिक इतिहास को देखें तो अशोक गहलोत को सूबे में काफी कद्दावर नेता माना जाता है। वहीं पिछले कुछ समय से युवा चेहरे के तौर पर सचिन पायलट ने भी काफी लोकप्रियता हासिल की है।

पायलट का गुर्जर जाति से होना बन सकता है खतरा-

राजस्थान की जाति आधारित राजनीति में जातिगत समीकरणों को साधते हुए टिकटों का बंटवारा करना काफी अहम है। ऐसे में पायलट को सीएम का चेहरा ना बनाने का एक कारण यह भी हो सकता है कि वो गुर्जर जाति से आते हैं और राजस्थान में मीणा, जाट और गुर्जर जाति शुरू से एक दूसरे के खिलाफ रही है। वहीं दूसरी तरफ अशोक गहलोत की भी हवा जाट समुदाय में कुछ खास नहीं है। ऐसे में पार्टी के अंदर अभी घोर संशय बना हुआ है।

COMMENT