Valentine’s Day 2020: ‘…दबा दबा सा सही दिल में प्यार है कि नहीं’, पढ़िए रोमांटिक शेर

Views : 4664  |  5 min read

सप्ताह भर के उत्सव और उत्साह के बाद, वेलेंटाइन  सप्ताह का आखिरी दिन है। 14 फरवरी को हर साल दुनियाभर में वेलेंटाइन्स डे मनाया जाता है। वेलेंटाइन डे को अपने साथी के लिए अपने प्यार को कबूल करने या उस विशेष व्यक्ति के साथ साझा किए गए बंधन का जश्न मनाने के रूप में मनया जाता है। इस दिन, हैंडरिटन ग्रिटिंग्स, फूल, और चॉकलेट्स एक-दूसरे के लिए अपने प्यार का जश्न मनाते हैं।

ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप अपने प्यार का इजहार कर सकते हैं जैसे कि खाना पकाना, घूमने जाना, क्वालिटी टाइम स्पैंड करना। आपके इस दिन को बेहद खास बनाने के लिए यहां दी हैं कुछ चुनिंदा शायरों की चुनिंदा शेर-ओ-शायरी जो इश्क को समर्पित है। जिन्हें आप शेयर भी कर सकते हैं।

मैं घटता जा रहा हूँ अपने अंदर
तुम्हें इतना ज़ियादा कर लिया है
सालिम सलीम

दिल मुझे उस गली में ले जा कर
और भी ख़ाक में मिला लाया
मीर तक़ी मीर

दुनिया के सितम याद न अपनी ही वफ़ा याद
अब मुझ को नहीं कुछ भी मोहब्बत के सिवा याद
जिगर मुरादाबादी

क्या कहूँ तुम से मैं कि क्या है इश्क़
जान का रोग है बला है इश्क़
मीर तक़ी मीर

जब तुम से मोहब्बत की हम ने तब जा के कहीं ये राज़ खुला
मरने का सलीक़ा आते ही जीने का शुऊर आ जाता है
साहिर लुधियानवी

झुकी झुकी सी नज़र बे-क़रार है कि नहीं
दबा दबा सा सही दिल में प्यार है कि नहीं
कैफ़ी आज़मी

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे
मैं हूँ दर्द-ए-इश्क़ से जाँ-ब-लब मुझे ज़िंदगी की दुआ न दे
शकील बदायुनी

मोहब्बत एक ख़ुशबू है हमेशा साथ चलती है
कोई इंसान तन्हाई में भी तन्हा नहीं रहता
बशीर बद्र

ये इश्क़ नहीं आसाँ इतना ही समझ लीजे
इक आग का दरिया है और डूब के जाना है
जिगर मुरादाबादी

आप दौलत के तराज़ू में दिलों को तौलें
हम मोहब्बत से मोहब्बत का सिला देते हैं
साहिर लुधियानवी

 

COMMENT