जयंती: अमिताभ की वजह से आई थी तेजी बच्चन और इंदिरा गांधी के परिवारों के बीच दरार

Views : 3525  |  3 minutes read
Teji-Bachchan-Biography

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की मां तेजी बच्चन को कौन नहीं जानता। अपने समय की मशहूर सोशल सामाजिक कार्यकर्ता तेजी ने समाज के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किए और अपने पत्नी हरिवंश राय बच्चन से अलग खुद की पहचान बनाई। 12 अगस्त, 1914 को पाकिस्तान में जन्मी तेजी सूरी उर्फ तेजवंत कौर ने मशहूर कवि हरिवंश राय बच्चन से शादी की थी, वो हरिवंश राय की दूसरी पत्नी थीं। तेजी बच्चन के दो बेटे अमिताभ बच्चन और अजिताभ बच्चन हैं। आज तेजी बच्चन की 106वीं जन्म जयंती पर जानते हैं उनके बारे में कुछ​ दिलचस्प किस्से..

Teji-Bachchan-With-Indira-Gandhi

बोफोर्स घोटाले के बाद दोनों परिवारों के बीच मतभेद होने लगा

वैसे जब भी तेजी बच्चन का जिक्र आता है, तो वहां भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का नाम भी जरूर सामने आता है। गांधी परिवार और बच्चन परिवार के रिश्तों के बीच आज भले ही खटास आ चुकी हो, लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब दोनों परिवारों के बीच काफी गहरे संबंध थे। तेजी बच्चन और इंदिरा गांधी बहुत अच्छी दोस्ती थीं और उनकी ये दोस्ती लम्बे समय तक चली थी।

तेजी बच्चन एक सोशल एक्टिविस्ट के रूप में सक्रिय थीं और जाना-पहचाना चेहरा बन गईं थीं। साल 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या से पहले इन दोनों के रिश्ते बेहद घनिष्ठ रहे। यही नहीं अमिताभ और राजीव गांधी की दोस्ती भी काफी मशहूर थी। आपको बता दें कि इंदिरा गांधी की विदेशी बहू सोनिया गांधी को तेजी बच्चन ने ही एक मां की तरह इंडिया के तौर-तरीकों से परिचित करवाया था।

दोनों परिवारों के रिश्ते तब और गहरे हुए जब 1984 में राजीव गांधी ने अमिताभ को इलाहाबाद सीट से चुनाव मैदान में उतारा। अमिताभ ये चुनाव जीते भी, लेकिन बोफोर्स घोटाले में नाम आने के बाद दोनों के बीच मतभेद होने लगा। साल 1991 में राजीव गांधी की हत्या के बाद गांधी परिवार को महसूस हुआ कि बुरे वक्त में अमिताभ उन्हें अकेला छोड़कर चले गए। ऐसे में उनके रिश्ते बिगड़ते ही चले गए।

teji bachchan

थिएटर और प्ले में काफी रुचि रखती थीं तेजी बच्चन

समाज सेवा के अलावा तेजी बच्चन को थिएटर और प्ले का भी काफी शौक था। उन्होंने एक प्ले में लेडी मैकबेथ का किरदार भी निभाया था। साल 1973 में तेजी बच्चन को फिल्म फाइनेंस कॉरपोरेशन का अध्यक्ष बनाया गया। तेजी बच्चन ने साल 2007 में 21 दिसम्बर को 93 साल की उम्र में मुंबई के लीलावती अस्पताल में आखिरी सांस ली।

Read More: अपनी सरल और सीधी व्यंग्य शैली लेखन के लिए जाने जाते हैं हरिशंकर परसाई

COMMENT