सुधा मल्होत्रा ने रेडियो लाहौर में बतौर बाल कलाकार किया था काम, साहिर लुधियानवी से जुड़ा नाम

Views : 7790  |  4 minutes read
Sudha-Malhotra-Biography

भारतीय पार्श्वगायिका सुधा मल्होत्रा 30 नवंबर को अपना 85वां जन्मदिन मना रही हैं। आज सुधा का नाम बॉलीवुड में भले ही अनसुना सा लगता है, मगर कव्वाली के दीवानों के लिए यह नाम किसी पहचान का मोहताज नहीं। वहीं सुधा मल्होत्रा का नाम साहिर लुधियानवी, अमृता प्रीतम के इश्क के चर्चों में भी शामिल है। दरअसल, साहित्य की दुनिया में साहिर-अमृता और इमरोज के इश्क के अफसाने से हर कोई परिचित है। मगर इनकी कहानी में एक और कैरेक्टर यानि सुधा मल्होत्रा का नाम भी शामिल है। जी हां, ये वही सुधा है जिनकी वजह से साहिर लुधियानवी और अमृता प्रीतम के बीच दूरी बढ़ती चली गई थी।’

Singer-Sudha-Malhotra-

महज 11 साल की उम्र में फिल्म के गायन किया

सुधा मल्होत्रा एक नामी प्लेबैक सिंगर हैं, जिन्होंने कई फिल्मी गानों में अपनी आवाज का जादू बिखेरा। सुधा का जन्म 30 नवंबर, 1936 को दिल्ली में हुआ था। उन्होंने बेहद कम समय में शोहरत का स्वाद चख लिया था। कॅरियर के शुरुआती दौर में सुधा ने रेडियो लाहौर में बतौर बाल कलाकार काम किया था। यही नहीं महज 6 साल की उम्र में सुधा ने स्टेज परफॉर्मेंस दी थी। अपनी काबिलीयत के दम पर सुधा ने हिंदी सिनेमा में एंट्री की। उन्होंने महज 11 साल की उम्र में फिल्म ‘आरजू’ के लिए ‘मिला दे नैन’ गाना गाया था।

साहिर लुधियानवी की प्रेमिका रही सुधा

सुधा मल्होत्रा को उनकी सुरीली और मधुर आवाज के लिए तो जाना ही गया इसके अलावा उनका नाम मशहूर शायर साहिर लुधियानवी के साथ भी जुड़ा। साहित्य की दुनिया में साहिर का नाम बेहद अदब से लिया जाता रहा है। साहिर जितने बड़े कलमगार थे, उतने ही बड़े आशिक भी। साहिर और अमृता प्रीतम ने भले ही अपने प्यार को नाम ना दिया हो मगर इस रिश्ते में दोनों मन की गहराई से एक थे।

जब साहिर और अमृता प्रीतम की दूरी की वजह बनीं

साहिर लुधियानी का मिजाज शायराना होने के साथ ही आशिकाना भी था। बेशक उनका दिल अमृता के लिए धड़कता था, मगर जब उनकी मुलाकात सुधा से हुई तो सुधा पर अपना दिल हार बैठे। साहिर भले ही अमृता के साथ थे मगर सुधा के साथ भी उनका रिश्ता बराबर था। साहिर और सुधा के बीच बढ़ती नजदीकियां अमृता और साहिर के बीच की दूरियां बनती गई।

यही नहीं अमृता प्रीतम और साहिर के रिश्ते के अंत की वजह भी सुधा मल्होत्रा ही बताई जाती है। हालांकि, लिंकअप्स की खबरों के बीच सुधा ने साहिर के बजाय गिरधर मोटवानी संग वर्ष 1960 में शादी कर ली।

Read Also: सुरिंदर कौर ने अपनी आवाज़ के जादू से पंजाब की फ़िज़ा में घोल दी थी मिश्री

COMMENT