शकीला बानो भोपाली: भारत की पहली महिला कव्वाल, जिसकी एक दर्दनाक हादसे ने छीन ली थी आवाज

Views : 6853  |  0 minutes read

हिंदोस्तान में कला के क्षेत्र में ऐसी कई हस्तियां हुई हैं जिन्होंने अपने हुनर से देश दुनिया में खूब शोहरत पाई। इन्हीं में से एक हैं झीलों की नगरी में जन्मी शकीला बानो भोपाली। शकीला बानो देश की पहली महिला कव्वाल थी। जिन्होंने कव्वाली के क्षेत्र में अविस्मरणीय योगदान दिया। इनकी कव्वाली के दीवाने देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी खूब है। अपने दौर में उन्होंने इंग्लैंड, कुवैत, अफ्रीका में कई कार्यक्रम भी किये।

वो शकीला बानो ही थी जिसने उस दौर में पुरुष प्रधान कव्वाली को महिला की आवाज देने का बीड़ा उठाया। कव्वाली को एक नया रूप दिया जिसकी कल्पना शायद ही किसी मर्द कव्वाल ने की होगी। आजाद भारत का ये वो दौर था जिसमें महिलाओं पर सख्त पाबंदी हुआ करती थी। घर से बाहर निकलना तो मानों ख्याली पुलाव की तरह था। इसके बावजूद शकीला ने शायरी और कव्वाली के प्रति अपने प्रेम को दुनिया के सामने रखा और भारत की पहली महिला कव्वाल के रुप में शोहरत पाई।

शकीला बानो का जन्म 1942 को हुआ था। उनके पिता और चाचा अच्छे शायर थे। उनका बचपन भी शेर-शायरियों के बीच बीता। यही वजह है कि धीरे—धीरे उनका झुकाव इस ओर होता चला गया।

जब घर में हुआ शकीला बानो का जमकर विरोध

शकीला बानो को आसानी से परिवार और समाज ने स्वीकार नहीं किया। पहली महिला कव्वाल बनने की उनकी जर्नी काफी संघर्षों से भरी थी। पुरुष प्रधान कव्वाली के उस दौर में एक महिला की आवाज का जमकर विरोध हुआ। घर में उन्हें जान से मारने की धमकी तक दे दी गई। मगर इसके बावजूद उन्होंने कव्वाली को दी अपनी आवाज से लोगों का दिल जीतने में कामयाब रहीं।

बॉलीवुड ने भी दिया खूब सम्मान

कव्वाली की दुनिया में शकीला की आवाज का जादू बॉलीवुड में खूब चला। उन्होंने कई फिल्मी गानों को अपनी आवाज दी। बॉलीवुड के ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार भी शकीला के जबरदस्त फैन थे। उन्होंने कई फिल्मों में अभिनय भी किया। साल 1971 में उनकी कव्वाली का पहला एलबम आया जिसने उन्हें देशभर में पहचान दिलाने का काम किया।

इस दर्दनाक हादसे में खो दी थी आवाज

साल 1984 में भोपाल में हुई एक गैस त्रासदी ने देश को हिलाकर रख दिया। जिसमें जन-मन की खूब हानि हुई। इस गंभीर हादसे में शकीला ने अपनी आवाज खो दी। अपने अंतिम दिनों में शकीला बेहद अकेली और तंगहाली का जीवन जी रही थी। हालांकि कई बॉलीवुड स्टार्स ने उनकी मदद भी की मगर 16 दिसंबर, 2002 को दुनिया ने इस कलाकार को खो दिया। शकीला बानो ने अपनी जिंदगी में कभी शादी नहीं की थी।

COMMENT