सबरीमाला फैसले पर सुप्रीम कोर्ट करेगा पुनर्विचार, 22 जनवरी को होगी सुनवाई

Views : 1736  |  0 minutes read
supreme-court-of-india

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को क्लच 49 समीक्षा याचिकाओं और सभी लंबित आवेदनों पर सुनवाई करने का फैसला लिया है जिसमें सबरीमाला मामले में कोर्ट के फैसले को चुनौती दी गई है।

हालांकि पांच न्यायाधीशीय पीठ सीजेआई रंजन गोगोई और जस्टिस रोहिंटन नरीमन, एएम खानविलकर, डीवाई चंद्रचुद और इंदु मल्होत्रा ने स्पष्ट किया कि 28 सितंबर के फैसले पर कोई स्टे नहीं होगा।

कोर्ट ने कहा कि सभी लंबित आवेदनों के साथ सभी समीक्षा याचिकाएं उचित बेंच से पहले 22 जनवरी, 2019 को खुली अदालत में सुनाई जाएंगी। हम यह स्पष्ट करते हैं कि 28 सितंबर के इस अदालत के फैसले और आदेश का कोई स्टे नहीं होगा।

सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय सबरीमाला के खुलने के चार दिन पहले दिया है जहां एक कार्यक्रम के रूप में मंदिर दो महीनों तक खुला रहेगा। 17 नवंबर से ये प्रोग्राम शुरू होने वाला है।

कार्यकर्ता राहुल ईश्वर, जो सबरीमाला के लिए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और अयप्पा धर्म सेना के अध्यक्ष भी हैं। उनका कहना है कि उनका संगठन 22 जनवरी तक मंदिर के बाहर गार्ड की तरह खड़ा होगा, जब तक सर्वोच्च न्यायालय समीक्षा याचिकाओं को सुनेंगे। केरल सरकार को तीर्थयात्रियों के साथ सहयोग करना चाहिए। भक्ति परंपराओं का उल्लंघन करने के किसी भी प्रयास के खिलाफ स्वाभाविक रूप से हम प्रतिक्रिया करेंगे।

COMMENT