राजस्थान चुनाव : कांग्रेस में 15 मुस्लिम चेहरे, वहीं भाजपा में एक

Views : 1392  |  0 minutes read

हिंदुत्व को मुद्दा बना रही भाजपा ने इस बार राजस्थान चुनाव में मुस्लिम उम्मीदवारों के टिकट काटे हैं। वसुंधरा राजे के पेच के कारण भाजपा ने सिर्फ एक मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट दिया है। वहीं कांग्रेस ने राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए 15 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है।

बीजेपी ने हाइप्रोफाइल टोंक सीट पर मौजूदा विधायक और मंत्री युनुस खान को फिर से चुनाव मैदान में उतारा है। यहां से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ताल ठोंक रहे हैं। राजस्थान की 200 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार को नामांकन पत्र दाखिल करने का अंतिम दिन था।

कांग्रेस ने घोषित अपने 195 सीटों की सूची में 15 मुस्लिम नाम शामिल किए हैं। इनमें 8 प्रत्याशी 2013 में भी चुनाव लड़ चुके हैं। एक बार फिर से चुनाव मैदान में उतारे गए इन नामों में किशनपोल से अमीन कागजी, तिजारा से ए.ए खान, कामां से जाहिदा खान, सवाईमाधोपुर से दानिश अबरार, पुष्कर से नसीम अख्तर, मकराना से जाकिर हुसैन, पोकरण से सालेह मोहम्मद और शिव से अमीन खान शामिल हैं।

कांग्रेस के घोषित मुस्लिम उम्मीदवारों में से 3 महिलाएं हैं. इनमें जाहिदा खान के अलावा साफिया (रामगढ़) और गुलनेज (लाडपुरा) शामिल हैं। वर्ष 2013 में हुए चुनाव में साफिया और गुलनेज के पति उनकी सीट पर कांग्रेस के प्रत्याशी थे।

कांग्रेस इस बार 195 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। उसने 5 सीटें गठबंधन की पार्टियों के लिए छोड़ी है।

दूसरी ओर बीजेपी ने सभी 200 सीटों के लिए अपने प्रत्याशी उतारे हैं। इनमें केवल एक मुस्लिम उम्मीदवार युनुस खान हैं। डीडवाना से विधायक और वसुंधरा राजे सरकार में मंत्री युनुस खान को पार्टी ने बिलकुल अंतिम समय में टोंक से प्रत्याशी बनाया है।

2013 में बीजेपी ने 4 मुस्लिम चेहरे उतारे थे जिनमें से युनुस खान और हबीबुर्रहमान (नागौर) को जीत हासिल हुई थी। पार्टी ने इस बार हबीबुर्रहमान को मौका नहीं दिया, जिससे नाराज होकर वो कांग्रेस में शामिल हो गए। कांग्रेस ने उन्हें नागौर सीट से ही टिकट दिया है।

राजस्थान की सभी सीटों पर 7 दिसंबर को एक ही चरण में मतदान होना है। इसी दिन दक्षिण के राज्य तेलंगाना में भी विधानसभा के चुनाव हैं। 11 दिसंबर को राजस्थान समेत पांचों चुनावी राज्यों के नतीजे आएंगे।

COMMENT