राहुल द्रविड़: क्रिकेट अगर जेंटलमैन गेम है तो ये खिलाड़ी उसका चैंपियन है

Views : 1812  |  3 minutes read

भारत के क्रिकेट इतिहास में आप एग्रेशन की बात आती है तो सौरव गांगुली या वर्तमान में विराट कोहली को याद कर सकते हैं, स्टाइल की बात करें तो अजहरुद्दीन का कॉलर स्टाइल भुलाए नहीं भूला जा सकता है। कैप्टन कूल की बात करें तो धोनी एक ही नाम दिमाग में आता है, लेकिन अगर सादगी की बात करें तो सिर्फ एक ही नाम हमारे जहन में आता है और वो है राहुल द्रविड़। जी हां, सादगी और साफगोई की मिसाल माने जाने वाले राहुल द्रविड़ का 11 जनवरी को जन्मदिन है। द्रविड़ को क्रिकेट जगत की एक ऐसी शख्सियत माना जाता है, जिनका योगदान आने वाली कई पीढ़ियों तक याद रखा जाएगा। द्रविड़ ने अपने कॅरियर में बल्लेबाजी में तो सभी का दिल जीता ही वहीं जरूरत पड़ने पर कीपिंग तो टीम के कप्तान बनकर भी जिम्मेदारी संभाली।

टीम मैन का मतलब है राहुल द्रविड़

टीम इंडिया की बात करें तो द्रविड़ ने अपनी कॅरियर में मिली हर जिम्मेदारी को शिद्दत के साथ निभाया। गांगुली और ग्रेग चैपल विवाद के दौर में जब द्रविड़ कप्तानी के लिए आए तब टीम को हर मुश्किलों से निकालने वाले राहुल ही थे। साल 2001 में टीम में फिक्सिंग स्कैंडल ने काफी तूल पकड़ा उस दौरान लगातार मैचों में हार रही भारतीय टीम की चौतरफा आलोचना हो रही थी।

ऑस्ट्रेलियाई टीम का भारत दौरा था और मुंबई में पहला मैच में हारने के बाद टीम जीत के लिए तरस रही थी। तभी दूसरे टेस्ट मैच में द्रविड़ छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे तो द्रविड़ और लक्ष्मण की 335 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी से टीम ने जीत का खाता खोला।

पूरे कॅरियर में खेला सिर्फ एक टी-20 मैच

राहुल द्रविड़ को टेस्ट मैच में काफी बार गेंदबाज के लिए आउट करना मुश्किल हो जाता था क्योंकि वो टिक कर खेलने वाले खिलाड़ियों में जाने जाते थे, इसलिए उन्हें ‘द वॉल’ के नाम से जाना गया। उनके टेस्ट खेलने के तरीके को देखकर चयनकर्ता लिमिटेड ओवर्स खेलने वाला खिलाड़ी नहीं मानते थे। ऐसे में राहुल ने खुद ही अपने कॅरियर में कभी भी टी-20 नहीं खेलने का फैसला किया और आखिर तक सिर्फ एक टी-20 मैच खेला।

हैप्पी बर्थडे द्रविड़: जब भोले भाले जैमी को 20 साल की लड़की ने बना दिया बकरा

राजस्थान रॉयल्स के साथ जुड़ कर आईपीएल में भी चमके

आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स टीम के साथ जुड़ने के बाद राहुल ने कई अहम जिम्मेदारी संभाली। टीम में युवा खिलाड़ियों के साथ तालमेल हर किसी को पसंद आया।

राहुल द्रविड़ का इंडिया-ए के कोच के रूप में नया रोल

आज रिटायरमेंट के सालों बाद महान क्रिकेटर राहुल द्रविड़ अब भी देश के लिए एक अहम जिम्मेदारी निभा रहे हैं। राहुल फिलहाल अंडर-19 और इंडिया-ए टीम के कोच हैं और अपना काम बखूबी निभा रहे हैं। उनके निर्देशन में कई स्टार टीम इंडिया के लिए परिपक्व हो रहे हैं।

 

COMMENT