हर किसी की जुंबा पर छाए रहे ‘मेरे रश्के कमर’ गीत को इस सिंगर ने गाया था सबसे पहले…

5 min. read
Nusrat Fateh Ali Khan

नुसरत फतेह अली खान कव्वाली की दुनिया के कलाकारों में से एक और सूफी गायक थे। परवेज फतेह अली खान के रूप में जन्मे नुसरत फतेह अली खान ने कव्वाली को नई पीढ़ियों के बीच लोकप्रिय बनाने का काम किया। नुसरत एक ऐसे पाकिस्तानी गायक और संगीतकार थे, जिन्होंने अपनी जोशीली आवाज़ के दम पर दुनिया के हर कोनों में अपना नाम और प्रसिद्धि बनाई। खान को संगीत की दुनिया में सबसे शक्तिशाली आवाज़ों में से एक माना जाता है, यही वजह है कि उन्हें ‘किंग ऑफ कव्वाली’ के रूप में जाना जाता है।

नुसरत का जन्म 13 अक्टूबर 1948 को फैसलाबाद में हुआ था। उनके पिता ‘फतेह अली खान’ भी अपने जमाने के मशहूर गायक थे। उनके परिवार ने 600 साल से चली आ रही कव्वाली संगीत की इस परंपरा को जीवंत रखते हुए इसे आगे बढ़ाने का काम किया। बॉलीवुड फिल्मों में भी उन्होंने कई गानों को अपनी आवाज दी। उनके कई बेहतरीन लोकप्रिय गानों को बॉलीवुड में रिक्रियेट किये गए हैं। नुसरत फतेह अली खान की जयंती पर दिल छू लेने वाली बेहतरीन रचनाओं पर डालते हैं एक नजर।

1.मेरे रश्के क़मर

2.तुम्हे दिल्लगी भूल…

3.ये जो हल्का हल्का सूरूर है…

4.सनू इक पल चैन ना आवे…

5.आफरीन आफरीन…

 

 

 

 

 

COMMENT

Chaltapurza.com, एक ऐसा न्यूज़ पोर्टल जो सबसे पहले, सबसे सटीक की भागमभाग के बीच कुछ अलग पढ़ने का चस्का रखने वालों का पूरा खयाल रखता है। हम देश-विदेश से लेकर राजनीतिक हलचल, कारोबार से लेकर हर खेल तो लाइफस्टाइल, सेहत, रिश्ते, रोचक इतिहास, टेक ज्ञान की सभी हटके खबरों पर पैनी नजर रखने की कोशिश करते हैं। इसके साथ ही आपसे जुड़ी हर बात पर हमारी “चलता ओपिनियन” है तो जिंदगी की कशमकश को समझने के लिए ‘लव यू जिंदगी’ भी कुछ अलग है। हमारी टीम का उद्देश्य आप तक अच्छी और सही खबरें पहुंचाना है। सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे इस प्रयास को निरंतर आप लोगों का प्यार मिल रहा है…।

Copyright © 2018 Chalta Purza, All rights Reserved.