बॉलीवुड ही नहीं, हॉलीवुड भी है इनकी एक्टिंग का दीवाना

5 read

प्रियंका चोपड़ा ने न केवल बॉलीवुड में बल्कि हॉलीवुड में भी अपनी एक्टिंग से करोड़ों फैंस को अपना दीवाना बना चुकी हैं। वह एक एक्ट्रेस के साथ ही गायिका और निर्माता भी है। आज 18 जुलाई को प्रियंका चोपड़ा अपना 37वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही हैं। प्रियंका वर्ष 2015 से हॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में भी सक्रीय हैं।

बचपन से देखी सांस्कृतिक विविधता

प्रियंका चोपड़ा का जन्म 18 जुलाई, 1982 को जमशेदपुर, झारखंड में हुआ था। उनके पिता अशोक चोपड़ा और माता मधु चोपड़ा हैं जो आर्मी में डॉक्टर के पद पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। प्रियंका चोपड़ा के एक छोटा भाई सिद्धार्थ चोपड़ा है। प्रियंका की कजिन बहनें परणीति चोपड़ा, मीरा चोपड़ा और मन्नारा चोपड़ा भी बॉलीवुड इंडस्ट्री में सक्रिय हैं।

माता-पिता की आर्मी में नौकरी की वजह से प्रियंका अमूमन भारत के हर हिस्से में रही, जिसमें दिल्ली, चंडीगढ़, लद्दाख, लखनऊ, बरेली और पुणे शामिल हैं। इस कारण उन्हें इन शहरों की यात्रा करने से भारत की सांस्कृतिक विविधता से परिचय हुआ।

बचपन में हुईं रंगभेद का शिकार

प्रियंका ने अपनी शिक्षा लखनऊ के ला मार्टिनियर गर्ल्स स्कूल और बरेली में सेंट मारिया गोरेट्टी कॉलेज से की हैं।
वह जब 13 वर्ष की थी, अपनी आंटी के साथ आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चली गई। यहां पर प्रियंका को कई बार कथित तौर पर रंगभेद का शिकार भी होना पड़ा। प्रियंका के स्कूल में एक ऐसी लड़की थी जो उन्हें अकसर धमकाती रहती थी। इतना ही नहीं, पढ़ाई के दौरान सांवले रंग के कारण प्रियंका के ऊपर मजाक करके कई क्लासमेट भी हंसते थे।

प्रियंका तीन वर्ष के बाद भारत वापस लौट आईं और बरेली के आर्मी पब्लिक स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की। इस दौरान उन्होंने स्थानीय “माय क्वीन” सौंदर्य ब्यूटी पेजेंट का खिताब जीता।

मां के प्रयासों ने दिलाया मिस वर्ल्ड का खिताब

जब प्रियंका 12वीं क्लास में पढ़ रही थी तब उनकी मां ने उनकी फोटो ‘फेमिना मिस इंडिया कांटेस्ट’ के लिए भेजी और वह लकी रही कि उन्हें मिस इंडिया में हिस्सा लेने का मौका मिला और वह मिस इंडिया का खिताब जीत गई। वर्ष 2000 में मिस इंडिया प्रियंका ने मिस वर्ल्ड के लिए भारत का प्रतिनिधित्व किया और वह विजेता बन गईं। प्रियंका मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने वाली भारत की पांचवीं प्रतियोगी थी। प्रतियोगिता जीतने से पहले उन्होंने कॉलेज में दाखिला लिया लेकिन बाद में प्रतियोगिता जीतने के बाद उन्होंने फिल्मी दुनिया से ऑफर आने लगे तो, उन्होंने हिन्दी सिनेमा में अपना कॅरियर बनाने का निश्चय किया।

निक जोनास से की शादी

प्रियंका और निक जोनास ने 1 दिसंबर, 2018 को ईसाई मत से और 2 दिसंबर को हिंदू मान्यताओं के मुताबिक शादी की। निक जोनास प्रियंका से करीब 10 साल छोटे हैं।

बॉलीवुड में कॅरियर

मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने के बाद मिली प्रसिद्धि ने प्रियंका चोपड़ा के लिए बॉलीवुड के दरवाजे खोल दिए। उन्हें पहली बार अब्बास मस्तान की फिल्म ‘हमराज’ के लिए अप्रोच किया गया था, लेकिन किसी वजह से वह इस फिल्म का हिस्सा ना बन सकी।

उन्हें फिल्मों में एक्टिंग करने का मौका तमिल फिल्म ‘थमिजहन’ में मिला, इस फिल्म में प्रियंका के अपोजिट विजय नजर आए थे। फिल्म में प्रियंका का किरदार काफी लिमिटेड था।

हिंदी सिनेमा में प्रियंका ने वर्ष 2003 में फिल्म ‘द हीरो: लव स्टोरी ऑफ़ अ स्पाई’ से डेब्यू किया, इस फिल्म में उन्हें सैकंड लीड एक्ट्रेस के तौर पर मौका मिला, फिल्म में सनी देओल, प्रीति जिंटा, अमरीश पुरी और प्रियंका चोपड़ा मुख्य किरदार में थे। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ब्लाक-बस्टर साबित हुई थी और फिल्म में प्रियंका के किरदार को भी मिला-जुला रेस्पॉन्स मिला था।

इसी वर्ष प्रियंका राज कंवर की फिल्म ‘अंदाज’ में अक्षय कुमार के अपोजिट दिखाई दी थी। फिल्म में उनके अभिनय को काफी सराहा गया था, जिसके लिए उन्हें बेस्ट स्पोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड में नामांकन भी मिला था।

वर्ष 2004 उनके लिए काफी निराशाजनक रहा क्योंकि इस साल उनकी तीन फ़िल्में ‘प्लान’, ‘किस्मत’ और ‘असम्भव’ रिलीज हुईं और तीनों ही फिल्में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप रही।

शुरुआत फिल्मी कॅरियर में प्रियंका को फिल्मों में ग्लैमर रोल ऑफर किए जाते थे। कुछ समय बाद डेविड धवन ने प्रियंका को एक कॉमेडी फिल्म ‘मुझसे शादी करोगी’ के लिए अप्रोच किया, इस फिल्म में प्रियंका सलमान खान और अक्षय कुमार के अपोजिट नजर आई थी। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट रही।

इसके बाद प्रियंका को अब्बास-मस्तान की फिल्म ‘ऐतराज’ में नकरात्मक भूमिका करने का ऑफ़र मिला। फिल्म हिट रही और प्रियंका को उनके किरदार के लिए काफी तारीफ़ मिली। इस फिल्म के लिए प्रियंका को नेगेटिव रोल निभाने के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड से भी नवाजा गया।

वर्ष 2005 में प्रियंका ने की पहली दो फ़िल्में ‘ब्लैकमेल’ और ‘करम’ बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी। बाकी फिल्में ‘वक्त’, ‘यकीन’ और ‘बरसात’ बॉक्स ऑफिस पर सफल रही।

वर्ष 2007 में प्रियंका निखिल अडवाणी निर्देशित फिल्म ‘सलाम-ए-इश्क’ में नजर आई। वर्ष 2008 में वह फिल्म ‘लव स्टोरी 2050’ में हर्मन बावेजा के अपोजिट दिखाई दी, यह फिल्म बुरी तरह फ्लॉप साबित हुई। प्रियंका के एक्टिंग कॅरियर में फैशन एक टर्निंग पॉइंट साबित हुई। फिल्म में प्रियंका की एक्टिंग हर जगह खूब तारीफ हुई और उन्हें सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला। इसके बाद उन्होंने अपने कॅरियर में कई सफल फिल्में दी। वह रोमांटिक कॉमेडी फिल्म ‘दोस्ताना’ में अक्षय कुमार और जॉन अब्राहम के अपोजिट नजर आयीं।

वर्ष 2009 में प्रियंका ने विशाल भारद्वाज निर्देशित थ्रिलर फिल्म ‘कमीने’ में शाहिद कपूर के साथ काम किया।

इसके बाद प्रियंका आशुतोष गोवारीकर की फिल्म ‘व्हाट्स योर राशि’ में नजर आयीं, इस फिल्म में प्रियंका ने राशियों के हिसाब से 12 अलग अलग किरदार निभाए।

वर्ष 2010 में प्रियंका जुगल हंसराज निर्देशित फिल्म ‘प्यार इम्पॉसिबल’ में नजर आयीं। उसके बाद प्रियंका फिल्म अंजाना-अनजानी में रणबीर कपूर के अपोजिट नजर आयीं। फिल्म बॉक्स-ऑफिस पर ठीक-ठाक कमाई करने में सफल रही थी।

बॉलीवुड से हॉलीवुड का सफर

प्रियंका ने वर्ष 2015 से हॉलीवुड में एंट्री की और एबीसी स्टूडियो में अमेरिकन थ्रिलर शो ‘क्वांटिको’ को साइन किया। इस शो में प्रियंका ने एलेक्स पैरिश की भूमिका निभाई और उन्हें टीवी श्रृंखला में पसंदीदा अभिनेत्री के लिए पीपुल्स चॉइस अवॉर्ड मिला। वह पीपुल्स चॉइस अवॉर्ड जीतने वाली पहली दक्षिण एशियाई एक्ट्रेस बनीं। अगले वर्ष भी प्रियंका ने दूसरा पीपल्स चॉइस अवॉर्ड जीता। वर्ष 2018 में तीन सत्रों के बाद क्वांटिको रद्द कर दिया गया था। प्रियंका हॉलीवुड फिल्म ‘बेवॉच’ में भी नजर आईं थी।

म्यूजिक में भी रखे कदम

प्रियंका चोपड़ा एक्टिंग के अलावा म्यूजिक में भी बेहद दिलचस्पी रखती हैं। प्रियंका को सिंगिंग की दुनिया में पहचान ‘इन माय सिटी’ से मिली, इसके बाद ‘एग्जोटिक’ और ‘आई कांट मेक यू लव मी’ शामिल हैं।

अवॉर्ड्स

  • प्रियंका ने अपने फिल्मी कॅरियर में अनेक अवॉर्ड जीते हैं। उन्हें पहला सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस का राष्ट्रीय अवॉर्ड फिल्म ‘फैशन’ के लिए वर्ष 2008 में मिला।
  • प्रियंका को पांच फिल्मफेयर अवॉर्ड मिले हैं।
  • फिल्मफेयर अवॉर्ड फिल्म ‘अंदाज’ के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला डेब्यू के लिया मिला।
  • उन्हें फिल्म ‘ऐतराज’ में नकारात्मक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए मिला।
  • फैशन-सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस
  • क्रिटिक बेस्ट एक्ट्रेस-सात खून माफ़
  • सहायक सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस बाजीराव मस्तानी के लिए।
  • इसके अलावा प्रियंका ने ‘क्वांटिको’ के लिए दो पीपल्स चॉइस अवॉर्ड्स भी जीत चुकी हैं।
  • वर्ष 2016 में उन्हें कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।
  • साथ ही टाइम मैगजीन पत्रिका ने उन्हें दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक नाम दिया।
  • फोर्ब्स ने उन्हें 2017 में दुनिया की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं में सूचीबद्ध किया।

प्रियंका अपने पिता के बेहद करीब थी, प्रियंका के पिता की मृत्यु वर्ष 2013 जून में कैंसर से हो गई थी।

फिल्मी दुनिया में अपना मुकाम बनाने के बाद प्रियंका खुद को सेल्फ मेड स्टार कहती हैं।

 

COMMENT

Chaltapurza.com, एक ऐसा न्यूज़ पोर्टल जो सबसे पहले, सबसे सटीक की भागमभाग के बीच कुछ अलग पढ़ने का चस्का रखने वालों का पूरा खयाल रखता है। हम देश-विदेश से लेकर राजनीतिक हलचल, कारोबार से लेकर हर खेल तो लाइफस्टाइल, सेहत, रिश्ते, रोचक इतिहास, टेक ज्ञान की सभी हटके खबरों पर पैनी नजर रखने की कोशिश करते हैं। इसके साथ ही आपसे जुड़ी हर बात पर हमारी “चलता ओपिनियन” है तो जिंदगी की कशमकश को समझने के लिए ‘लव यू जिंदगी’ भी कुछ अलग है। हमारी टीम का उद्देश्य आप तक अच्छी और सही खबरें पहुंचाना है। सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे इस प्रयास को निरंतर आप लोगों का प्यार मिल रहा है…।

Copyright © 2018 Chalta Purza, All rights Reserved.