महेश भूपति ने पहली पत्नी को तलाक देकर मिस यूनिवर्स लारा दत्ता से की दूसरी शादी

Views : 3390  |  4 minutes read
Mahesh-Bhupathi-Biography

अपने समय में ‘इंडियन एक्सप्रेस’ के नाम से मशहूर महेश भूपति और लिएंडर पेस की जोड़ी ने भारतीय टेनिस को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने में अहम भूमिका निभाईं। इन दोनों महान भारतीय टेनिस खिलाड़ियों में से एक महेश भूपति 7 जून को अपना 48वां बर्थडे मना रहे हैं। भूपति ने भारतीय टेनिस को अपनी अमूल्य सेवाएं दी और विश्व स्तर पर भारत को एक नई पहचान दिलाने में लिएंडर पेस के साथ महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

वह 1990 और 2000 के दशक में टेनिस डब्ल्स में दुनिया के टॉप खिलाड़ियों में से एक माने जाते थे। भूपति ‘पद्मश्री’ (2001) जैसे प्रतिष्ठित अवॉर्ड से सम्मानित हैं। इस भारतीय टेनिस खिलाड़ी ने अपनी पहली शादी टूटने के बाद बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री लारा दत्ता से दूसरी शादी की और टेनिस से संन्यास लेने के बाद पिछले कुछ वर्षों से परिवार के साथ अच्छा समय बिता रहे हैं। ऐसे में इस खास मौके पर जानते हैं उनके जीवन के बारे में…

Mahesh-Bhupathi-and-Sania

महज 14 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय टेनिस में एंट्री ली

पूर्व दिग्गज भारतीय टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति का जन्म 7 जून, 1974 को तमिलनाडु राज्य की राजधानी चेन्नई (पहले मद्रास) में हुआ था। उनका पूरा नाम महेश श्रीनिवास भूपति हैं। भूपति ने महज 14 वर्ष की उम्र में अंतरराष्ट्रीय टेनिस में अपने कॅरियर की शुरुआत की। उन्होंने वर्ष 1991 में भारतीय टेनिस का प्रतिनिधित्व किया। वर्ष 1992 में भूपति विबंलडन जूनियर डबल्स चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे। वर्ष 1997 में जापान की राकी हिराकी के साथ फ्रेंच ओपन जीतने के साथ ही महेश भूपति का ग्रैंड स्लैम जीतने का सिलसिला शुरू हो गया था।

लिएंडर पेस के साथ जोड़ी बनाकर रचा इतिहास

महेश भूपति को भारतीय स्टार लिएंडर पेस के रूप में एक सफल जोड़ीदार मिला, जिनके साथ जोड़ी बनाकर उन्होंने भारत में टेनिस को नई बुलंदियों पर पहुंचाने का काम किया। वर्ष 1999 महेश भूपति के लिए स्वर्णिम युग साबित हुआ। इसी वर्ष इस भारतीय जोड़ी ने दो युगल ग्रैंड स्लेम फ्रेंच ओपन और विंबलडन खिताब जीता। महेश भूपति ने मिश्रित युगल का यूएस ओपन भी इसी वर्ष जीता। वर्ष 2001 में फिर एक बार इन दोनों की जोड़ी ने फ्रेंच ओपन के खिताब पर कब्जा जमाया। ‍

मालूम हो कि भूपति और पेस की जोड़ी सभी चारों ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट के फाइनल्स में पहुंचने वाली पहली युगल जोड़ी बनी थी। वर्ष 1999 में इस जोड़ी को युगल टेनिस में विश्व रैंकिंग हासिल हुआ और यह सम्मान पाने वाली पहली भारतीय जोड़ी बनने का गौरव हासिल किया। टेनिस के ओपन ग्रैंड स्लेम युग में वर्ष 1952 के बाद ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाली यह पहली जोड़ी थी। हालांकि, बीच के सालों में महेश भूपति और लिएंडर पेस के बीच कुछ मतभेद हो गए, जिसकी वजह से दोनों ने एक-दूसरे के साथ खेलना बंद कर दिया था। यह जोड़ी एक बार फिर वर्ष 2008 में बीजिंग ओलम्पिक के दौरान मैदान पर साथ खेलती नज़र आईं।

Bhupathi-and-Paes

पेस से मतभेद के बाद मिर्नी के साथ जोड़ी बनाकर जीता खिताब

महेश भूपति और लिएंडर पेस की भारतीय जोड़ी में मतभेद होने के बाद भूपति ने बेलारूस के मैक्स मिर्नी के साथ जोड़ी बनाकर वर्ष 2002 का यूएस ओपन खिताब जीता। उन्होंने मिक्स डबल्स में भी आठ ग्रैंड स्लेम खिताब अपने नाम किए। इनमें वर्ष 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन और वर्ष 2012 फ्रेंच ओपन में उनकी जोड़ीदार सानिया मिर्जा थीं। साल 2008 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में यह जोड़ी रनरअप रही थी।

Mahesh-Bhupathi-Family

स्पोर्ट्स सर्विस और एंटरटेनमेंट की दुनिया में रखा कदम

महेश भूपति ने वर्ष 2002 में ग्लोबोस्पोर्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की शुरुआत की जोकि एक स्पोर्ट्स व एंटरटेनमेंट एजेंसी है। उनकी यह कंपनी भारत में टेनिस सुविधा प्रदान करती है और सानिया मिर्जा जैसी खिलाड़ियों के कॅरियर निर्माण में अहम भूमिका निभाई है। साल 2013 में 25 मई को भूपति ने फ्रांस के पेरिस में इंटरनेशनल प्रीमियर टेनिस लीग की स्थापना की घोषणा की। यह आईपीएल से प्रेरित थी। वर्ष 2014 में महेश भूपति ने इंडियन स्पोर्ट्स ब्रांड ‘ज़ीवन’ (ZEVEN) लॉन्च किया। साल 2016 में भूपति ने अंतरराष्ट्रीय टेनिस को हमेशा के लिए विदा कह दिया।

Mahesh-Bhupathi-Family

भूपति की पहली शादी सात साल ही चल पाईं

महेश भूपति के निजी जीवन की बात करें तो उन्होंने वर्ष 2002 में मॉडल श्वेता जयशंकर से शादी की थी, लेकिन यह शादी सात साल चली और वर्ष 2009 को इन दोनों का तलाक हो गया। इसके बाद उनका बॉलीवुड एक्ट्रेस और पूर्व मिस यूनिवर्स (2000) से अफेयर चला। 16 फरवरी, 2011 को मुंबई के बांद्रा में एक समारोह में भूपति ने लारा दत्ता से शादी कर ली। इन दोनों की एक बेटी है, जिसका नाम सायरा भूपति है।

Read More: रवि शास्त्री ने घरेलू क्रिकेट में छह गेंदों पर छह छक्के लगाकर बनाया था रिकॉर्ड

COMMENT