बर्थडे: अब तक कॅरियर में चार बार नेशनल फिल्म अवॉर्ड जीत चुकी हैं कंगना रनौत

Views : 4181  |  4 minutes read
Kangana-Ranaut-Biography

हिंदी सिनेमा जगत की ‘क्वीन’ कही जाने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत का 23 मार्च को अपना 35वां जन्मदिन मना रही हैं। बॉलीवुड में कंगना अपनी बेबाक छवि के लिए पहचानी जाती है। अपने कॅरियर की बात हो या बॉलीवुड के लोगों से रिश्तों की बात कंगना ने हमेशा उन पर खुलकर बात की है। फिल्मी बैकग्राउंड से नहीं होने के बावजूद भी उन्होंने अभिनय की दुनिया में सफलता पायी और खुद को अभिनय कौशल के मामले में दूसरी अभिनेत्रियों से आगे खड़ा किया। उन्होंने हिमाचल के एक छोटे से गांव से निकलकर खुद को भारतीय फिल्मी दुनिया में बतौर महिला सुपरस्टार स्थापित किया है। कंगना रनौत अपने अफेयर्स को लेकर भी काफी चर्चित रही हैं। ऐसे में इस मौके पर जानते हैं उनके जीवन के बारे में कुछ दिलचस्प बातें..

परिवार में कोई नहीं था फिल्मी दुनिया से

कंगना का जन्म 23 मार्च, 1987 को हिमाचल प्रदेश के भांबला नामक छोटी जगह पर हुआ था। उनके परिवार में परदादा एक विधायक थे, दादा आईएएस अफ़सर थे और पिता अपना खुद का कारोबार चलाते थे और मां अध्यापक हैं यानि उनका पूरा परिवार शिक्षित और सम्पन्न था, इसलिए उन्हें भी अच्छी शिक्षा मिली।

मेडिकल की पढ़ाई छोड़ चुना अभिनय में कॅरियर

कंगना को घरवाले ने दिल्‍ली मेडिकल की पढ़ाई के लिए भेजा, पर उन्‍होंने अभिनय के क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाने के लिए मेडिकल की पढ़ाई अधूरी छोड़ दी। उन्होंने दिल्ली में अस्मिता थिएटर ग्रुप के साथ अपने अभिनय कॅरियर की शुरुआत की। कंगना ने सुप्रसिद्ध रंगमंच निर्देशक अरविन्द गौड़ के सान्निध्य में प्रशिक्षण प्राप्त किया। कंगना ने अरविन्द की थिएटर कार्यशाला में इंडिया हैबिटेट सेंटर में भाग लिया और कई नाटकों में अभिनय किया। अरविन्द गौड़ के साथ उनका पहला नाटक गिरीश कर्नाड का ‘रक्त कल्याण’ था।

कंगना का बॉलीवुड में फिल्मी सफर

जहां कंगना के परिवार वाले नहीं चाहते थे कि वे अभिनेत्री बने लेकिन कंगना अपने सपने को पूरा करने के लिए परिवारवालो से झगड़ा करके और समाज के ताने सुनकर मुंबई चली आई थी। कंगना जब मुंबई आई थी तब वह महज 17 साल की ही थी। उस वक्त कंगना के पास न तो रहने के लिए घर था, ना ही कुछ खाने के लिए पैसे। ऐसे में उन्होंने मुंबई में सड़कों पर ही रात गुजारी थी। बॉलीवुड में कंगना की पहली डेब्यू फिल्म अनुराग बसु निर्देशित ‘गैंगस्टर’ थी। इस फिल्म को पाने के लिए भी उन्हें बहुत संघर्ष किया था। वे बताती है कि ‘गैंगस्टर के लिए भी मैंने कई ऑडिशन्स दिए। महीनों इंतजार किया।’

इस फिल्म के मिलने के बाद उन्होंने अपनी किरदार के लिए कड़ी मेहनत की। इस फिल्म के बाद कंगना ने एक से बढ़कर एक चैलेंजिंग रोल किए। कंगना के इस फिल्म में अभिनय को सभी ने खूब सराहा और उन्‍हें इसके लिए फिल्‍मफेयर ‘सर्वश्रेष्ठ महिला डेब्‍यू’ अवॉर्ड से सम्मानित भी किया गया। आज आलम यह है कि उन्होंने अपने अभिनय के दम पर न केवल बॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्रियों में से एक हैं बल्कि वे उन बॉलीवुड अभिनेत्रियों में शामिल है जो सबसे अधिक मेहनताना लेती हैं।

कंगना के अभिनय को कई राष्ट्रीय अवॉर्ड

जहां डेब्यू फिल्म ‘गैंगस्टर’ के लिए उन्हें ‘सर्वश्रेष्ठ महिला डेब्‍यू’ अवॉर्ड मिला, उसके बाद वे अभिनय की दुनिया में कई बार राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हो चुकी हैं।

कंगना राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड से 4 बार सम्मानित

कंगना रनौत को वर्ष 2008 में ‘फैशन’ के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का और 2014 में फिल्म ‘क्वीन’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार जीत चुकी हैं। वर्ष 2016 में कंगना को फिल्म ‘तनु वेड्स मनु:रिटर्न्स’ में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए तीसरी बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार दिया गया है।

निर्देशन में ‘मणिकर्णिका’ फिल्म से की एंट्री

कंगना ने 2019 में फिल्म मणिकर्णिका से बतौर डायरेक्टर के रूप में हाथ अजमाया और यह फिल्म 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो चुकी हैै। आलोचकों ने उनकी फिल्म की काफी तारीफ भी की है। देशभक्ति फिल्मों के लिए महशूर दिग्गज अभिनेता-फिल्मकार मनोज कुमार ने कंगना रनौत की जमकर प्रशंसा की और न्यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा, ”मुझे लगता है कि कंगना पर्दे पर उनका (रानी लक्ष्मीबाई) किरदार निभाने के लिए ही पैदा हुई हैं।”

अफेयर को लेकर कंगना के बॉलीवुड से रिश्ता

जहां कंगना अपने अभिनय के दम पर आज बॉलीवुड में पहचान बना चुकी है वहीं बॉलीवुड में वे अफेयर को लेकर खूब चर्चा में रही हैं।उन्होंने बेबाक ढंग से कहा कि 16 से 31 साल की उम्र में उनके कई लव अफेयर रहे और उन्होंने अपने किसी ब्वॉय फ्रेंड का साथ नहीं छोड़ा, बल्कि उन्होंने ही उन्हें डंप कर दिया।

कंगना ने जब बॉलीवुड में अपने कॅरियर के शुरुआती दिनों में खुद से 20 साल बड़े आदित्य पंचोली के प्यार में पड़ गई थीं। बाद में कंगना ने आदित्य पंचोली पर मारपीट व शोषण करने के आरोप लगाए। पुलिस के बीच बचाव के बाद दोनों ने एक-दूसरे से दूरी बनाना ही ठीक समझा।

कंगना का एक अफेयर शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन के साथ खूब चर्चा में रहा। दोनों ‘राज—2’ फिल्म में एक—दूसरे के करीब आये थे। साल 2016 में कंगना से ब्रेकअप के बाद अध्ययन सुमन ने बेहद गंभीर आरोप लगाए थे। अध्ययन ने बताया कि ‘राज-2′ की शूटिंग के दौरान हम करीब आए। तब मैं सिर्फ 20 साल का था। कंगना का व्यवहार कई बार मुझसे बहुत अजीब रहा। कई मौकों पर उसने मुझे गालियां दीं।’

कंगना का अफेयर ऋतिक रोशन के साथ भी रहा जो कभी विवादों से भरा और मीडिया में काफी चर्चित भी रहा। अब वे एक-दूसरे को देखना तक पसंद नहीं करते। कहा तो यहां तक जाता है ऋतिक रोशन के तलाक के पीछे की वजह भी को-स्टार से नजदीकियां थीं। कंगना ने कई मौकों पर कहा कि ऋतिक के साथ उनका अफेयर रहा। मगर ऋतिक ने हमेशा इस तरह के संबंध से इनकार किया। यही नहीं एक-दूसरे के मेल भी लीक किए गए थे जो खूब सुर्खियां बटोरने में कामयाब रहीं।

ऋतिक रोशन से अलग होने के बाद कंगना कई बार ब्रिटिश एक्टर निकोलस लैफर्टी के साथ देखी गईं। अजय देवगन और कंगना ने फिल्म वंस अपॉन ए टाइम की। इस फिल्म के बाद दोनों के अफेयर की खबरें उड़ीं। हालांकि जल्द ही ये रिश्ता खत्म हो गया। एक इंटरव्यू में कंगना ने कहा था कि शादीशुदा एक्टर के साथ रिलेशनशिप में जाना उनकी भूल थी, हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था।

COMMENT