स्पेशल: मशहूर आर्टिस्ट एमएफ हुसैन की ये पांच पेंटिंग्स रही थी बेहद कंट्रोवर्शियल

Views : 3091  |  4 minutes read
M-F-Husain-Biography

भारत के सबसे विवादित व मशहूर पेंटर और विश्व प्रसिद्ध आर्टिस्ट एमएफ हुसैन की आज 105वीं जयंती है। एमएफ हुसैन का जन्म 17 सितंबर, 1915 को महाराष्ट्र के सोलापुर जिले के पंढरपुर शहर में एक सुलेमानी बोहरा मुस्लिम परिवार में हुआ था। बहुत कम लोग जानते हैं कि उनका पूरा नाम मक़बूल फिदा हुसैन था।

MF-Husain

एमएफ को पेंटिंग, ड्राइंग, राइटिंग के अलावा को फिल्म मेकिंग का बड़ा शौक था। अपनी कई पेंटिंग्स के लिए दुनियाभर में सराहे गए एमएफ की कई पेंटिंग्स बेहद विवादित रही थीं, जिसके कारण उन्हें भारत तक छोड़ना पड़ गया था। आज एमएफ हुसैन की बर्थ एनिवर्सरी पर देखिए उनकी पांच सबसे विवादित पेंटिंग्स..

MF-Husain
भारत माता

बॉम्बे प्रोगेसिव आर्टिस्ट्स ग्रुप के फाउंडिंग मेंबर थे

एमएफ हुसैन ने मात्र ढाई साल उम्र में अपनी मां को खो दिया था। इसके कुछ महीनों के बाद उनके पिता ने दूसरी शादी कर ली और वे इंदौर जा बसे। एमएफ ने अपनी स्कूली शिक्षा इंदौर से ही पूरी की। उन्होंने किशोर अवस्था में कुछ साल बड़ौदा में बिताए। वहां उन्होंने सुलेख कला सीखीं। इसके बाद धीरे-धीरे उनकी कला की ओर रुचि बढ़ती गई और फ़िर उन्होंने एक कलाकार बनने का फैसला किया। वे सन् 1935 में बॉम्बे (मुंबई) चले गए और वहां प्रसिद्ध सर जेजे स्कूल ऑफ आर्ट में दाखिला ले लिया था। एमएफ हुसैन बॉम्बे प्रोगेसिव आर्टिस्ट्स ग्रुप के फाउंडिंग मेंबर्स में से एक थे।

MF-Husain
भगवान गणेश
सिनेमा पेंटिंग्स से की थी पेंटिंग कॅरियर की शुरुआत

एमएफ हुसैन ने सिनेमा पेंटिंग के चित्रकार के रूप में अपने पेंटिंग कॅरियर की शुरुआत की थी। 1930 के दशक के आरंभ तक हिंदी सिनेमा प्रति वर्ष करीब 200 फिल्मों का निर्माण कर रहा था, इस दौरान विज्ञापन बाज़ार में नामी पेंटर्स की जरूरत महसूस हुई। एमएफ ने इस अवसर का इस्तेमाल अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए किया। यह वो समय था जब उन्होंने एक खिलौना कंपनी के लिए भी काम करना शुरू किया था, जहां उन्होंने कुछ नए खिलौने डिजाइन किए और बनाये। एमएफ हुसैन की पेंटिंग्स की लोकप्रियता दुनियाभर में इतनी थी कि फॉर्ब्स पत्रिका ने उन्हें ‘पिकासो ऑफ इंडिया’ नाम दिया था।

MF-Husain
मॉं सरस्वती

अपने पूरे कॅरियर के दौरान एमएफ हुसैन ने फोटोग्राफी, प्रिंट मेकिंग और फिल्म निर्माण की भी कई कोशिश की। उन्होंने कुछ फिल्मों को निर्देशित किया था, जिसमें कुछेक फिल्मों को सफ़लता भी मिली थीं। उन्हें फिल्म ‘थ्रू द आइज ऑफ़ ए पेंटर’ के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रायोगिक फिल्म के तहत प्रतिष्ठित राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त हुआ था। इसके अलावा उन्होंने एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित को लेकर ‘गाजा गामिनी’ और एक्ट्रेस तब्बू के साथ ‘मीनाक्षी: ए टेल ऑफ़ थ्री सिटीज’ जैसी फिल्में भी बनाई थी। वर्ष 2004 के कांस फिल्म फेस्टिवल में फिल्म ‘मीनाक्षी’ की स्क्रीनिंग हुई थी, जिसके लिए उन्हें सराहना भी मिली थी। एमएफ अभिनेत्री माधुरी के बड़े फैन हुआ करते थे।

MF-Husain
भगवान श्रीकृष्ण

इसमें कोई श़क नहीं है कि एमएफ हुसैन दुनिया के नामी पेंटर्स में से एक थे। लेकिन उनका पेंटिंग कॅरियर विवादों से भरा रहा था। उन्होंने कई प्रसिद्ध हिंदू देवी-देवताओं की न्यूड पेंटिंग्स बनाई थी, जिससे देश के बहुसंख्यकों में क्रोध होना स्वाभाविक था। इन विवादित पेंटिंग्स के कारण कई हिंदू संगठनों ने उनके ख़िलाफ़ भावनाओं को ठेस पहुंचाने और धर्म को अपमानित करने संबंधित एफआईआर दर्ज करवाई थीं।

MF-Husain
द्रौपदी

कुछ लोगों ने गुस्से में उनके घर पर भी हमला किया था, जिसके बाद उन्हें देश छोड़ना पड़ा था। एमएफ हुसैन पहले ब्रितानी नागरिक बने और फिर उन्हें साल 2010 में कतर ने नागरिकता दे दी थी। 9 जून, 2011 को 95 वर्ष की उम्र में विवादित आर्टिस्ट एमएफ हुसैन का लंदन में निधन हो गया था। उनकी अंतिम दिनों में भारत लौटने की दृढ़ इच्छा थी, लेकिन वे अपने पूर्व में किए पर मिली धमकियों की वजह से डर गए थे।

Birthday: फोटोज में देखिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अब तक की जीवन यात्रा

COMMENT