सर्दियों में तिल का सेवन करने से सेहत रहती है दुरुस्त

Views : 1600  |  0 minutes read

सर्दी का मौसम आते ही तिल से बनी चीजों का खानपान बड़ी मात्रा में शुरू हो जाता है। लोग गजक, लड्डू आदि खाना पसंद करते हैं। बाजार में भी तिल से बनी चीजें अधिक दिखने लगती है। मकर संक्रांति में तिल के लड्डू लोग बड़े चाव के साथ खाते हैं। सर्दी के मौसम में तिल का सेवन सेहत के लिए बेहत फायदेमंद होता है। तिल में प्रचुर मात्रा विटामिन, खनिज लवण, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फाइबर, कॉपर, प्रोटीन आदि पाए जाते हैं। इसके सेवन से कई बीमारियों में राहत मिलती है।

तिल से सेहत को होने वाले फायदे

हृदय को रखता है फिट

कई रिसर्च से साबित हुआ है कि तिल में पाए जाने वाला तेल हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मददगार होता है। इसमें मौजूद मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और गुड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है। यह हृदय को बीमारियों जैसे हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है।

कब्ज की समस्या में राहत

सर्दियों में तिल से बनी चीजें खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है। तिल में मौजूद फाइबर की वजह से यह पाचन क्रिया को बेहतर रखता है। जिससे कब्ज की समस्या दूर होती है। काले तिल खाने के बाद ठंडा पानी पीने से बवासीर की समस्या भी दूर होती है। तिल में मौजूद मैग्नीशियम से डायबिटिज के होने की संभावना को दूर हो सकती है।

कई बार कान में दर्द होने पर तिल के तेल में लहसुन की एक कली डालकर हल्का गर्म करके कान में डालने पर दर्द में राहत मिलती है। इसके तेल से शरीर की मालिश करने दर्द में राहत मिलती है।

तिल से बालों का झड़ना भी कम हो जाता है

तिल के तेल के सेवन से बाल को मजबूती मिलती है। वहीं इससे बनी चीजों को खाने से बाल असमय पकना और झड़ना बंद हो जाएगा। इसके तेल की मालिश से त्वचा स्वस्थ रहती है।

इसमें मौजूद कैल्शियम, जिंक आदि हड्डियों को मजबूत बनाती है। तिल में मौजूद प्रोटीन से शरीर को ताकत और एनर्जी मिलती है।

इससे मेटाबोलिज्म भी अच्छी तरह काम करता है। प्रति दिन थोड़ी मात्रा में तिल खाने से दिमाग चुस्त-दुरुस्त रहता है। इसके सेवन से मानसिक परेशानियां दूर होती हैं।

COMMENT