छत्तीसगढ़ चुनाव: पिछली बार पड़ा था सिर्फ एक वोट, इस बार 2 घंटे में ही किया 100 लोगों ने मतदान

Views : 1990  |  0 minutes read
chhattisgarh_assembly_election_2018

छत्तीसगढ़ में चुनाव शुरू हो गए हैं। दो चरणों में ये हो रहे हैं। पहले चरण के लिए मतदान शुरू हो चुका है। सोमवार यानि आज जिन भी क्षेत्रों में चुनाव होने जा रहा है उनमें अधिकतर नक्सली प्रभावित क्षेत्र रहे हैं। नक्सलियों द्वारा हमेशा ही लोगों को धमकाया जाता है और वोट न देने की बात कही जाती है। लेकिन अब खबरें आ रही हैं कि यहां पर लोग बाहर निकल रहे हैं और वोट भी कर रहे हैं।

सुकमा के भेज्‍जी क्षेत्र बहुत ही खास रहा। यहां पर नक्सलियों का काफी प्रभाव रहता है। पिछले चुनाव की बात करें तो यहां सिर्फ एक वोट पड़ा। इस बार माहौल कुछ और ही है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि सुबह 9 बजे से पहले ही इस विधानसभा क्षेत्र में 100 से ज्यादा वोट पड़े हैं।

गोरखा गांव से भी ऐसी ही खबरें आ रही हैं। वहां पर भी इस बार 20 वोट पड़े हैं जहां कभी वोटिंग तक नहीं हुई थी। दंतेवाड़ा के बारे में तो आप जानते ही होंगे। ये छत्तीसगढ़ का सबसे ज्यादा नक्सली प्रभावित क्षेत्र है। नक्सलियों ने यहां चुनावों का बहिष्कार करने को कहा था फिर भी यहां चुनाव हुए और सोमवार सुबह गांव के वार्ड पंच पाकलू ने अकेले वोट डाला।

नक्सलियों ने लोगों को जान से मारने की धमकी दी थी। बावजूद इसके कुन्ना, कुन्दनपाल, आरगट्टा जैसे इलाकों में मतदान केंद्र में वोटरों की लाइन लगी हुई हैं। 18 सीटों के लिए होने वाले चुनावों में मोहला मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, नारायणपुर, बीजापुर, कोंट सबसे ज्यादा नक्सली प्रभावित हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए यहां पर सुरक्षा के कड़े इंतेजाम किए गए हैं। आपको बता दें कि दूसरे चरण के चुनाव 20 नवंबर को होने हैं।

छत्तीसगढ़ में सोमवार को पहले चरण का मतदान हो चुका है और इस बार वोटिंग ने नए रिकॉर्ड कायम किए हैं। बताया जा रहा है कि पहले चरण में 70 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई है।

COMMENT